करण दलाल ने अभय चौटाला को किया चैलेंज, 23 सितंबर को आऊंगा सिरसा, गोली मारकर दिखाए

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष
Bhagat Singh, Yuva Haryana
Palwal, 16 Sept, 2018
विधानसभा में आपसी खींचतान और जूता प्रकरण के बाद अब पलवल से कांग्रेस विधायक करण दलाल ने सिरसा में जाने का ऐलान कर दिया है। आज पलवल की पंजाबी धर्मशाला में कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत के बाद करण दलाल ने 23 सितंबर को सिरसा में जाकर पलवल के सम्मान की लड़ाई लड़ने का ऐलान किया है।
इस मौके पर करण दलाल ने कहा कि पलवल की जनता सुलझी हुई है और किसी से गाली गलौच और लड़ाई की भाषा में बात नहीं करता है, लेकिन अगर कोई हमारे मान सम्मान को ठेस पहुंचाए तो वो इसका डटकर मुकाबला भी करती है। करण दलाल ने कहा किअगर कोई हमारी तरफ आंख उठाने की जुर्रत करेगा तो हम उनको बता देना चाहते हैं कि हमारी भूमि दादा कान्हा और राजा नाहर सिह जैसे वीरों की धरती है जो गुडे, बईमान व अपराधी किस्म के लोगों को सबक सिखाना जानती है।
उन्होने कहा कि अभय चौटाला ने जो मुझे पिछले दिनों गोली मारने की बात कही है, मैं उस चुनौती को स्वीकार करके 23 सितम्बर को सिरसा जाउगा और मैं अभय चौटाला को यह चैलेंज करता हूं कि वह मुझको गोली मारकर दिखाए।उन्होने कहा कि मैने चौ. देवीलाल के बारे में अपशब्द कहना तो दूर उनका नाम तक नहीं लिया क्योंकि हमारे क्षेत्र के बुर्जग लोगों ने हमे सदा बुजूर्गो का सम्मान करना सिखाया है।
उन्होने आरोप लगाते हुए कहा कि ऐसी छोटी हरकतें जो अभय चौटाला ने की है वह सिर्फ अनपढ़ व अपराधिक मानसिकता वाला व्यक्ति ही करता है।उन्होने कहा कि अभय चौटाला की डिग्रीया नकली है, वह दसवीं पास है वो भी नकल करके पास की है, अगर अभय चौटाला अपनी पढाई के आधार पर नौकरी मागने जाता है तो कोई इसे चापरासी के पद पर भी नही रखेगा।
उन्होने कहा कि अभय चौटाला ने एक बार फिर पलवल क्षेत्र के मान-सम्मान को ललकारा है। पहले भी ओम प्रकाश चौटाला ने 1999 के चुनाव के दौरान पलवल में एक सभा में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी जी की मौजूदगी में लोगों से कहा था कि करण दलाल को धूल चटा दो, लेकिन उस सभा में उसी के पार्टी के कार्यकर्ताओं ने खडे होकर विद्रोह कर दिया और उठकर चले गए, तब मजबूर होकर पूर्व प्रधानमंत्री जी को कहना पडा की आप जिसको वोट देना चाहते हैं उसी को दें।
।उन्होने कहा कि पिछले दिनों कुछ मठठी भर इनेलों के कार्यकर्ताओ ने अपनी टिकट व अन्य लालच में मेरी अर्थी निकालकर प्रदर्शन किया था। मेरे कार्यकर्ताओ ने मुझपर दवाब डाला था कि हम भी अर्थी निकालेगें लेकिन मैं आप लोगों से कहना चाहता हुँ कि हम लोग उनकी तरह छोटी मानसिकता के लोग नही हैं। हमारा काम अपने बच्चों को पढाना-लिखाना और उनकी जिंदगी सवारना है न कि इन लोगों की तरह उनको गन्दी बाते सिखाकर उनके भविष्य को अंधकार में करना है।उन्होने कहा कि चौटाला परिवार में अपनी सत्ता के घंमड में मेरे व मेरे परिवार के खिलाफ 302 हत्या जैसे झुठे मुकदमे दर्ज करवाकर मेरी आवाज को दबाना चाहा था लेकिन पलवल की जनता के सहयोग से मैं आप लोगों के बीच खडा हुँ पर वे लोग खुद जेल की सलाखों के पीछें है।
उन्होने बताया कि किस तरह से विधान सभा में इनेलो व भाजपा के विधायकों व मंत्रियों ने 25 लाख गरीब लोगों के राशन काटे जाने पर उनकी आवाज को विधान सभा में उठाने पर उनके खिलाफ षडयंत्र करके उन्हे विधान सभा से निष्काषित कराया। उन्होने बताया कि इनेलो व भाजपा हरियाणा में पक्ष व विपक्ष की पार्टी नही है। इनेलों व बसपा का गठबंधन केवल इनेलों द्वारा गरीब लोगो को वोट बटोरने के लिए एक साजिश है। असल में हरियाणा में गठबंधन इनेलो व भाजपा का है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *