घर में शराब रखने का नया नहीं है नियम, पहले भी 500 रुपये रोजाना देकर लाइसेंस देने का था नियम

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana, Chandigarh

हरियाणा में घर में शराब रखने के नियम को लेकर कड़ी आलोचना सरकार को झेलनी पड़ रही है लेकिन यह नियम नया नहीं है। यह नियम लम्बे समय से चला आ रहा है पहले इस नियम के तहत एक दिन के लाइसेंस के लिए 500 रुपये चुकाने पड़ते थे लेकिन नई आबकारी नीति में इसको महंगा कर दिया है।

सस्ती हुई देशी शराब– हरियाणा में आमतौर पर देसी शराब की कीमतों में हर साल इजाफा होता रहा है। यह पहला मौका है जब एक्स-डिस्टलरी प्राइस में 17 रुपए पर पेटी रेट कम किया गया है।

अगले साल ओपन कोटा होगा– आबकारी विभाग के अधिकारियों का कहना है कि देसी शराब को बंद नहीं किया जाएगा, इसका कोटा 40 से 20 फीसदी किया गया है।

10 हजार में मिलता था सालभर का लाइसेंस– आपको बता दें कि घर पर शराब रखने का पिछले तीन साल से लाइफ टाइम लाइसेंस 10 हजार रुपए देकर लिया जाता रहा है। जबकि सालाना राशि 1500 रुपए है।

कौनसी शराब रख सकते हैं घर ? आबकारी विभाग के अधिकारियों के अनुसार आईएफएल की छह, आईएमएफएल की 12, कंट्री लीकर की छह बोतल घर रख सकते है। बीयर की 12, रम की छह, वाइन की 12 बोतल, वोडका की छह रख सकते है।

अब कोई भी कर सकेगा अंग्रेजी शराब की सप्लाई– विदेश से आयात होने वाली शराब पर पहले समूचे हरियाणा में एक ही व्यक्ति का विशेषाधिकार था, लेकिन अब एक अप्रैल से लागू होने वाली नई आबकारी नीति में इसे ओपन कर दिया गया है। नई नीति के अनुसार लाइसेंस फीस जमा करवा कर कोई भी व्यक्ति विदेशी शराब की सप्लाई कर सकेगा।

700 गांवों में नहीं बिकेगी शराब– शर्तों को पूरी करने वाली 700 ग्राम सभाओं के प्रस्तावों को कैबिनेट ने मंजूरी दी है। इन गांवों में अब शराब के ठेके नहीं खुलेंगे।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *