हिसार में हरियाणा का पक्ष, दिल्ली-पंजाब में हरियाणा के खिलाफ। आखिर स्टैंड है क्या AAP का ?

Breaking खेत-खलिहान चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा

Yuva Haryana
Chandigarh, 27 March 2018

25 तारीख को जिस दिन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हिसार में रैली कर लोगों से समर्थन मांगा, उससे एक दिन पहले उन्हीं की पार्टी के दिल्ली के विधायक दिल्ली स्थित हरियाणा भवन के बाहर नारेबाज़ी कर रहे थे। उनका कहना था कि हरियाणा उन्हें पर्याप्त पानी नहीं दे रहा है, और इसी को लेकर इन आप कार्यकर्ताओं ने हरियाणा सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया।

दिल्ली का जनस्वास्थ्य विभाग इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट भी जा चुका है और वहां से हरियाणा से जवाब भी मांगा गया है। विशेष बात यह है कि एक दिन बाद ही अरविंद केजरीवाल हिसार में खुद को वहां का बेटा बताकर लोगों से हरियाणा में आम आदमी पार्टी की सरकार बनाने की अपील कर रहे थे।
अरविंद केजरीवाल ने हिसार में कसम खाकर कहा था कि उनकी सरकार बनी तो वे हरियाणा में स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करेंगे।
खैर, दिलचस्प बात ये है कि पानी के मसले को लेकर केजरीवाल पंजाब चुनाव के वक्त भी हरियाणा विरोधी बयान दे चुके हैं। अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि पंजाब के पानी पर पंजाब का हक है।

अब दिल्ली के लोगों के दबाव में वे हरियाणा सरकार के खिलाफ बात कर रहे हैं और हरियाणा के लोगों को आकर्षित करने के लिए वे वे वहां जाकर भी लुभावनी बातें कर रहे हैं। ऐसे में यह लोगों के बीच दुविधा की स्थिति बनी हुई है कि आखिर पंजाब-हरियाणा, हरियाणा-दिल्ली के विवादित अंतर्राज्यीय मसलों पर आम आदमी पार्टी किसके साथ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *