Home Breaking खेदड़ प्लांट में मारे गए मजदूरों को 20-20 लाख रूपये और परिजनों को नौकरी देगी सरकार

खेदड़ प्लांट में मारे गए मजदूरों को 20-20 लाख रूपये और परिजनों को नौकरी देगी सरकार

0
0Shares
 Yuva Haryana
Hisar, 10 May, 2018
हिसार के गांव खेदड़ स्थित राजीव गांधी थर्मल पावर प्लांट में 8 मई को हुए हादसे के तीनों मृतकों के परिजनों को 20-20 लाख रुपये की आर्थिक सहायता, तीनों घायलों को 10-10 लाख रुपये की सहायता तथा सभी के परिवार के एक-एक सदस्य को एचपीजीसीएल में नौकरी दी जाएगी।
हादसे के कारणों और इसके लिए जिम्मेदार अधिकारियों की भूमिका की जांच के लिए मुख्यालय के डीएसपी, एक इंस्पेक्टर तथा एक सब इंस्पेक्टर को शामिल करते हुए एसआईटी गठित कर दी गई है। इसके अलावा प्लांट के एसई, एक्सईएन व एसडीओ को चार्जशीट करते हुए उनका तबादला किया जाएगा। पंवार ने घोषणा की कि झुलसे हुए पीड़ितों का उचित उपचार सरकार द्वारा करवाया जाएगा। 
परिवहन मंत्री कृष्ण पंवार ने यह बात जिला हिसार के गांव खेदड़ स्थित थर्मल पावर प्लांट के पीडि़त परिवारों व ग्रामीणों से बात करते हुए कही। उनकी घोषणाओं से सहमत होने के बाद गांव के शमशान घाट में मृतकों का अंतिम संस्कार कर दिया गया। 
ग्रामीणों के बीच परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार ने कहा कि यह हादसा बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है और हमारी पूरी सहानुभूति पीड़ित परिवारों के साथ है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक मृतक के परिवार को सरकार की ओर से 17.5 लाख रुपये तथा घायल को 7.5 लाख रुपये नकद दिए जाएंगे। इसके अलावा सभी छह पीडि़त परिवारों को जिला प्रशासन द्वारा विभागीय योजना के तहत ढाई-ढाई लाख रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी।
उन्होंने कहा कि सभी छह परिवारों के एक-एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी दी जाएगी। घायलों का सरकार की ओर से उचित उपचार करवाया जाएगा।
उन्होंने कहा कि जो घायल पुलिस में अपने बयान दर्ज करवाना चाहेगा उसके 161-164 के तहत बयान दर्ज करवाए जाएंगे। हादसे के जिम्मेदार अधिकारियों की भूमिका की जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी गई है।
परिवहन मंत्री के आश्वासन के बाद मृतकों का अंतिम संस्कार किया गया।
परिवहन मंत्री ने मृतक कर्मचारियों की आत्मा की शांति की कामना करते हुए लोगों को भरोसा दिलाया कि सरकार और प्रशासन पूरी तरह से पीडि़त परिवारों के साथ है और उनकी हर संभव मदद की जाएगी। उन्हें भरोसा दिलाया कि हादसे के दोषियों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा, फिर चाहे वह किसी भी स्तर का अधिकारी या प्रभावशाली व्यक्ति क्यों न हो।
Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

हरियाणा में सरकारी दफ्तरों में कर्मचारियों अधिकारियों की ड्यूटी को लेकर दिशानिर्देश, देखें

Yuva Haryana, Chandigarh हरियाणा लॉ&…