बाजरा खरीद में अपने चहेतों को फायदा पहुंचाएगी सरकार, बाकी किसानों के बाजरे की लगेगी बोली- किरण

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष
Yuva Haryana
Bhiwani, 30 Sept, 2018
भिवानी में अपने आवास पर आयोजित प्रेसवार्ता में कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी ने कई मुद्दों को लेकर सरकार को घेरा। किरण चौधरी ने सबसे पहले सरकार की नीतियों को लेकर सवाल उठाए। उसके बाद किसानों व बेमौसम बारीस से बर्बाद फसलों तथा गांवों में जलभराव का मुद्दा उठाया। साथ ही किरण चौधरी ने सरकार की नौकरियों में निष्पक्षता के दावों को फैल बताते हुए कांग्रेस सरकार बनने पर बदमाशों का हरियाणा छुङवाने का दावा भी किया।
सबसे पहले किरण चौधरी ने प्रदेश सरकार को नाकाम करार दिया और कहा कि सरकार अपनी नाकामी व असलियत छुपाने के लिए और लोगों का मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए जात-पात का सिलसिला शुरु करने वाली है। उन्होने कहा कि इसके लिए सरकार के प्रायोजित पीठ्ठू जगह-जगह किसी ना किसी बहाने बैठक या धरने भी दे रहे हैं। साथ ही उन्होने कहा कि बेमौसम बारीस से आधा भिवानी जिला में जलभराव हुआ है। ये सब सरकारी की नाकामी व अनदेखी से हुआ है। उन्होने कहा कि बारीस तो बहाना है, असल में ड्रनों की सफाई के लिए जारी किए जाने वाले करोङों रुपये भ्रष्टाचार की भेट चढे हैं। किरण चौधरी ने कहा कि ये विभाग सीएम के पास है और इसकी जांच करवाई जानी चाहिए।
किरण चौधरी ने कहा कि सरकार जल्द ही किसानों को प्रति एकङ 50 हजार रुपये मुआवजा दे। क्योंकि ये किसानों पर दोहरी मार है। एक तो ये फसल बर्बाद और पानी निकासी ना होने पर दूसरी फसल की भी बिजाई नहीं हो पाएगी। उन्होने कहा कि गांवों में भी हालात खराब है। जलभरवा से मकानों में दर्रारें आ गई हैं। ऐसे में सरकार को ग्रामीणों को भी मुआवजा देकर राहत देनी चाहिए। किरण चौधरी ने बाजरे के 1950 रुपये प्रति क्विंटल समर्थन मूल्य पर भी सवाल उठाए और कहा कि 6 लाख मिट्रीक टन में से केवल एक लाख मिट्रीक टन बाजरे की खरीद समर्थन मूल्य पर करना अपने आप में बङा सवाल है। किरण चौधरी ने आरोप लगाया कि समर्थन मूल्य पर केवल भाजपा के चहिते किसानों का बाजरा खरीदा जाएगा और बाकि किसानों के बाजरे के केवल बोली लगेगी।
कांग्रेस विधायक दल की नेता ने भाजपा पर कटाक्ष करते हुए कहा कि ये सरकार केलव फैंकू है और कुछ नहीं। किरण चौधरी ने सरकारी नौकरियों में पार्दशिता के दावे को भी गलत बताया और आरोप लगाया कि बैकडोर से चहितों व आरएसएस से जुङे लोगों को ही नौकरियां दी जा रही हैं। किरण चौधरी ने दावा किया कि कांग्रेस सरकार बनने पर पेट्रोल व डीजल की जीएसटी में शामिल किया जाएगा, किसानों के समर्थन मूल्य, फसल बिमा योजना व कर्ज की योजनाओं में सुधार होगा, मूलभूत व कानून व्यवस्था में सुधार किया जाएगा और बदमाशों को हरियाणा से भागने पर मजबूर कर दिया जाएगा।
निश्चित तौर पर चुनावी वर्ष सत्ता पक्ष और विपक्ष एक दुसरे को घेरने की कोई कोर कसर नहीं छोङते, लेकिन सरकार पर किसानों की अनदेखी, ड्रनों की सफाई के नाम पर करोङों रुपये का भ्रष्टाचार व जात-पात की राजनिती के आरोप सत्ता पक्ष को कहीं ना कहीं जवाबदेह जरूर बनाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *