बैकफुट पर पुलिस, दिल्ली कूच करने जा रहे किसानों पर लगी हत्या की कोशिश की धारा हटाई

Breaking हरियाणा विशेष

23 फरवरी को दिल्ली घेराव के लिए जा रहे किसानों पर लाठीचार्ज और गिरफ्तार करने के मामले में यमुनानगर पुलिस ने बैकफुट पर आ गई है। पुलिस ने अब 150 किसानों पर दर्ज कि गई हत्या के प्रयास की धारा 307 को हटा लिया है।

बता दें कि दिल्ली कूच को जा रहे किसानों पर पुलिस ने केस दर्ज किए थे, जिसके बाद से विपक्ष के निशाने पर पुलिस और सरकार दोनों थे। इस घटना में 35 किसानों को जेल भेजा था।

किसान रादौर के त्रिवेणी चौंक पर इक्ठ्ठे हुए थे।  यहां उन्होंने स्टेट हाईवे को जाम कर दिया था जिस कारण पुलिस ने किसानों को नेशनल हाईवे से हटाने का प्यास किया था तो पुलिस और किसानों में पथराव हुआ था और ट्रैक्टर ट्राली को पुलिस पर चढ़ाने का प्रयास किया तो पुलिस ने किसानों पर रोड जाम करने के साथ-साथ धारा 307 का मामला दर्ज कर दिया था।

एसपी राजेश कालिया ने कहा कि किसानों पर किसी तरह की रबड़ बुलेट का इस्तेमाल नहीं किया गया।
और किसानों को हटाते हुए कुछ उपद्रवियों ने जरूर पत्थरबाजी की थी। इस दौरान किसानों को हटाते हुए यह समझ नहीं आया कि किसान ट्रैक्टर हटा रहे हैं या पुलिस के ऊपर चढ़ा रहे हैं। जिसके बाद एफआईआर पर जांच की गई तो यह बात सामने आई कि यह बस गलतफहमी थी। इस वजह से धारा 307 हटा दी गई है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *