हरियाणा से गए 6 कांवड़ियों की हादसे में हुई थी मौत, अब पंचायत ने गांव में कांवड़ न चढ़ाने का लिया फैसला

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Devender Singh, Yuva Haryana

Kosli, 29 July, 2019

कोसली गांव की पंचायत ने शिवरात्रि पर गांव में कांवड़ न चढ़ाने का फैसला किया है। जो भी कांवड़ आएगी वो गांव के बाहर सीमा पर स्थित मंदिरों पर ही चाढ़ा दी जाएगी।

बता दें कि गांव की पंचायत ने ये फैसला गत दिवस ऋषिकेश में हुए दर्दनाक हादसे को देखर लिया है। जहां, कांवड़ियों की गाड़ी पर पहाड़ टूटकर गिर गया था, जिसमें 6 कांवड़ियों की मौत हो गई थी। वहीं, अभी भी 9 कांवड़िये अस्पताल में जिन्दगी की जंग लड़ रहे हैं, उनकी हालत काफी गंभीर बताई जा रही है।

इस हादसे का शिकार हुए सभी कांवड़िये 22 जुलाई को कोसली से हरिद्वार के लिए रवाना हुए थे और कांवड़ लेकर लौटते समय हादसे का शिकार हो गए।

जैसे ही मृतक कांवड़ियों के शव आज गांव पहुंचे तो गांव में मातम छा गया और इस दुःखद खबर के बाद पूरे गांव में किसी के घर चूल्हा तक नहीं जला। इतना ही नहीं गांव के अन्य कावड़ियों ने भी इस दुखद हादसे के कारण अपनी कांवड रास्ते मे ही कैंसिल कर दी या वहा मंदिरों में चढ़ा दी।

इस संदर्भ में स्थानीय लोगों और कोसली विधायक व मृतकों के परिजनों का कहना है कि हादसे के बाद किसी घर मे चूल्हा नहीं जला ओर गांव में मातम का माहौल है। इन्होंने कहा कि आजादी के बाद गांव का यह पहला हादसा है, जिसमें प्राकृतिक प्रकोप ने एक साथ चार कावड़ियों की दर्दनाक मौत हो गई। इस हादसे को कभी भुलाया नहीं जा पायेगा। सभी ने दिवंगत आत्माओं की शांति के लिए भगवान से प्रार्थना की।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *