कुंडली-गाजियाबाद-पलवल एक्सप्रेसवे रविवार से हो जाएगा चालू, कुंडली-मानेसर एक्सप्रेसवे के लिए एक महीना और इंतज़ार

Breaking चर्चा में देश बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 23 May, 2018

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आगामी 27 मई को देश की प्रतिष्ठित सडक़ मार्ग परियोजना कुंडली-गाजियाबाद-पलवल एक्सप्रेस वे (इस्टर्न पैरीफेरल एक्सप्रेस वे) का उद्घाटन करेंगे। उद्घाटन समारोह उत्तर प्रदेश के बागपत जिला के खेकड़ा उपमंडल के खेल स्टेडियम में आयोजित एक समारोह में किया जाएगा। इससे पहले प्रधानमंत्री सोनीपत जिला के जाखौली गांव में केजीपी के किलोमीटर नंबर-5 पर बनाए गए टोल प्लाजा में भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की डिजीटल आर्ट गैलरी का भी उद्घाटन करेंगे।

सोनीपत के  उपायुक्त विनय सिंह ने आज इस प्रधानमंत्री के आगमन कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लिया और अधिकारियों को आवश्यक निर्देश भी दिए। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन को लेकर केजीपी हाईवे पर ही हैलीपैड बनाए गए हैं। यहां से प्रधानमंत्री किलोमीटर नंबर-5 पर बने टोल प्लाजा के नीचे बनाई गई डिजीटल आर्ट गैलरी का उद्घाटन करेंगे। यहां से वह सीधे उत्तर प्रदेश के खेकड़ा जाएंगे और वहां विधिवत तौर पर केजीपी का उद्घाटन करेंगे। हाईवे के निर्माण के लिए 910 दिन का लक्ष्य रखा गया था लेकिन इसे मात्र 500 दिन में ही बनाकर तैयार कर दिया गया।

इस दौरान राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के प्रोजेक्ट डायरेक्टर आशीष जैन ने बताया कि दिल्ली में ट्रैफिक का दबाव कम करने के लिए भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा इस्टर्न पैरीफेरल एक्सप्रेस वे (केजीपी) का निर्माण किया गया है। दो साल के रिकार्ड समय में यह केजीपी 5763 करोड़ रुपये की लागत से बनकर तैयार किया गया है। यह देश का पहला एक्सिस कंट्रोल हाईवे है और वाहन जितना सफर करेंगे उतना ही टोल देना होगा। उन्होंने बताया कि केजीपी का निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है और 27 मई को इसे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी खुद आम जनता को समर्पित करेंगे।

उन्होंने बताया कि इस हाईवे में प्रत्येक 500 मीटर पर दोनों तरफ रेन वाटर हार्वेस्टिंग की व्यवस्था की गई है। सौर ऊर्जा का प्रयोग किया गया है। देश की कला व संस्कृति को दर्शाते इंडिया गेट, गेटवे आफ इंडिया, अशोका स्तंभ जैसे 36 स्मारकों की प्रतिकृति स्थापित की गई है।

एनएचआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर आशीष जैन ने बताया कि कुंडली गाजियाबाद पलवल एक्सप्रेस वे (केजीपी) देश के हाईवे निर्माण क्षेत्र में एक बेहतरीन कदम है। देश के इस पहले एक्सिस कंट्रोल हाईवे के निर्माण के दौरान प्रयुक्त की गई तकनीक, बाधाओं और अन्य कार्यों को भावी पीढ़ी व आने वाले पर्यटकों को दिखाने के लिए एनएचआई द्वारा एक डिजीटल आर्ट गैलरी का निर्माण किया गया है। इस गैलरी में 18 डिस्प्ले तैयार किए गए हैं। इनमें डिजीटल माध्यम से शुरूआत से लेकर हाईवे का निर्माण पूरा होने तक की पल-पल की जानकारी तैयार की गई है। इसके साथ ही निर्माण कार्य करने वाली पूरी टीम के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक सामुहिक चित्र भी होगा। इस चित्र को भी बाद में यादगार के तौर पर इस डिजीटल आर्ट गैलरी में स्थापित किया जाएगा।

सोनीपत जिला के कुंडली से शुरू होकर उत्तर प्रदेश के बागपत, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर, फरीदाबाद होते हुए पलवल तक जाने वाला 135 लंबा यह कुंडली गाजियाबाद पलवल एक्सप्रेस वे (केजीपी) दिल्ली के इस्टर्न पैरीफेरल एक्सप्रेस वे के तौर पर राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा तैयार किया गया है। 135 किलोमीटर की लंबाई के छह लेन के इस हाईवे को 5763 करोड़ रुपये की लागत से तैयार किया गया है। देश के पहले एक्सिस कंट्रोल हाईवे पर सफर करने वाले वाहनों से उतना ही टोल लिया जाएगा जितना वह सफर करेंगे। हाईवे पर ओवरलोड वाहनों की जांच के नियंत्रण की भी व्यवस्था की गई है। यह एक्सप्रेस हाईवे कुंडली में और पलवल में कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस वे (वैस्टर्न पैरीफेरल एक्सप्रेस वे में मिलेगा।

वहीं हरियाणा में आने वाला हिस्सा जून माह में बनकर तैयार होगा, इसको लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा था कि अगले माह जून, 2018 में कुंडली-मानेसर-पलवल (केएमपी)एक्सप्रैस-वे के निर्माण का कार्य पूरा कर उदघाटन कर दिया जाएगा।

Read This News Also>>>

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *