इस गांव में नेताओं का विरोध करेंगी महिलाएं, अवैध शराब बिक्री से हैं परेशान

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Bhagat Singh, Yuva Haryana
Palwal, 05 April, 2019

लोकसभा चुनावो में अवैध शराब की बिक्री नेताओ पर भारी पड़ती दिखाई दे रही है। पुलिस की नाकामी के चलते अब एक बार फिर महिलाओं ने मोर्चा संभाला है। ऐसा ही मामला पलवल के गांव बामनीखेड़ा में देखने को मिला जहां महिलाएं पिछले एक वर्ष से शराब बेचने का विरोध कर रही है। अब उनका कहना है अगर शराब की बिक्री जारी रही तो वह गांव में नेताओं को प्रवेश ही नहीं करने देंगी।

आपको बता दें कि अवैध शराब बिक्री को लेकर महिलाओं ने गत वर्ष मोर्चा संभालते हुए शराब माफियाओ के होश ठिकाने लगाए हुए है। बावजूद इसके नेताओ की सरपरस्ती के चलते अवैध शराब की बिक्री आज भी जारी है। फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र के गांव बामनीखेड़ा में अवैध रूप से बिकने वाली शराब का मुद्दा चुनावों पर हावी होता नजर आ रहा है।

गौरतलब है कि गांव की सैंकड़ों महिलाएं एकजुट होकर एक स्वर में पिछले लंबे समय से शराब बिक्री का जमकर विरोध कर रही है। इस मामले को मीडिया ने भी जोरशोर से उठाया था। जिसके बाद अवैध बिक्री से बेखबर सोई हुई पुलिस ने गांव में धड़ाधड़ छापेमारी की। गांव में बिकने वाली अवैध शराब को पीकर नशे की गिरते आने वाले लोगों के परिजन इस नशाखोरी से इतने परेशान हो गए कि उन्होंने गांव में पहरा लगा शराब बिक्री पर अंकुश लगाने की पूरी कोशिश की साथ ही शराब विक्रेताओं के घरों में घुसकर अवैध शराब पुलिस को बरामद कराई। लेकिन अब महिलाओं ने चुनावों में किसी भी स्तर के नेता को  गांव में ना घुसने देने की बात कही है।

महिलाओं का आरोप है कि गांव का सरपंच ही इन शराब विक्रेताओं का सरपरस्थ है। गांव की पुष्पा, राजन देवी, सतेंद्री आदि महिलाओं का कहना है कि पुलिस आरोपियों को गांव से तो पकड़ कर ले जाती है पर गांव से मात्र कुछ ही दूरी पर फुलवाड़ी मोड़ पर छोड़ देती है जिसके चलते शराब माफियाओं के होंसले और बुलंद होते जा रहे है।

गौरतलब हैं कि गांव फुलवाड़ी में अवैध शराब को पकडऩे गई पुलिस टीम पर बुधवार को गांव के लगभग दर्जन युवक व महिलाओं ने ईंट-पत्थरों से हमला कर दिया और मौके पर पकड़े गए एक आरोपी को पुलिस गिरते से छुड़ाकर पुलिस की जमकर पिटाई की थी। हमले के दौरान पुलिस टीम पर हथियार से फायर भी किया गया लेकिन गनीमत यह रही कि गोली किसी को नहीं लगी। इस हमलें में तीन पुलिस कर्मी, दो महिला पुलिस कर्मी व एक एसपीओ घायल हो गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *