गरीब परिवारों के बच्चों को आत्मरक्षा और ताइक्वांडों की ट्रेनिंग दे रही है मुफ्त में,हर साल सभी बांधते है इन्हे राखी

Breaking खेल चर्चा में दुनिया देश बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा के खिलाड़ी हरियाणा विशेष
UMANG SHEORAN, YUVA HARYANA
PANCHKULA,25 AUGUST 2018
राखी यूं तो भाई बहन के प्यार का त्यौहार है और बहन भाई की कलाई पर राखी बांधती है। लेकिन पंचकूला में एक ऐसी महिला है जिसको राखी वाले दिन सैकड़ों लड़के और लड़किया राखी बांधते हैं।
इस महिला का नाम अमिता मारवाह है जो पिछले करीब सात  साल से गरीब परिवारों के बच्चों को आत्मरक्षा और ताइक्वांडों की ट्रेनिंग  मुफ्त में दे रही है। अभी तक अमिता हजारो गरीब परिवारों को बच्चों को सेल्फ डिफेंस और ताइक्वांडो सीखा चुकी है। इनमे से करीब 50 बच्चे ताइक्वांडों में इंटरनेशनल और नेशनल लेवल तक मेडल जीत चुके हैं।
अमिता चंडीगढ़ और पंचकूला में स्लम बस्तियों के पास हर रोज चार स्थानों पर यह ट्रेनिंग देती है। अमिता से ट्रेनिंग प्राप्त करने वाले गरीब परिवारों के 50 के करीब बच्चे ताइक्वांडों में नेशनल से लेकर इंटरनेशनल तक मैडल प्राप्त कर चुके हैं जबकि कई बच्चों को ताइक्वांडों कोच की नौकरी मिल गई है।
अमिता मारवाह के मन में  गरीब बच्चों को आत्मरक्षा में सक्षम बनाने  का ख्याल भी एक घटना के बाद आया था जब इन्होने स्लम एरिया में एक नाबालिग बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म की घटना सुनी। अमिता मारवाह ने तब सात साल पहले 15 लड़कियों के साथ सेल्फ डिफेंस की मुफ्त ट्रेनिंग शुरू की और धीरे- धीरे इनके पास सैकड़ों लड़के और लड़किया आने लगे।
अमिता से ट्रेनिंग ले रहे कई लड़के ऐसे भी हैं जो या तो नशे की लत का शिकार हो गए थे या फिर चैन स्नेचिंग जैसे अपराधों में लिप्त हो चुके थे मगर अब इनकी जिंदगी एक साकारात्मक दिशा में मूड चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *