कॉमनवेल्थ 2018: आखिरी दिन भी चला हरियाणा के खिलाड़ियों का दम, लगाई गोल्ड मेडल की झड़ी

Breaking खेल देश बड़ी ख़बरें युवा युवा चैम्पियन हरियाणा हरियाणा विशेष

Manisha Saini, Yuva Haryana

Panchkula, (14 April 2018)

गोल्ड कोस्ट में चल रहे 21वें कॉमनवेल्थ खेलों के आखिरी और 10वें दिन सुबह-सुबह भारत पर गोल्ड और सिल्वर मेडल की झड़ी लग गई है। भारत ने आज 4 गोल्ड और 2 सिल्वर अपने नाम किए। इसके साथ ही बैडमिंटन में सायना नेहवाल और श्रीकांत किदांबी ने सिंगल्स वर्ग के फाइनल में प्रवेश कर लिया है।

जैवलिन थ्रो

जैवलिन थ्रो में पानीपत के 20 साल के नीरज चोपड़ा ने गोल्ड मेडल जीता है नीरज चोपड़ा भाला फेंक में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं। नीरज ने पुरुषों की भालाफेंक स्पर्धा में देश के लिए गोल्ड मेडल जीता है।

 मुक्केबाजी

बल्लबगढ़ के गौरव सोलंकी ने भारत को मुक्केबाजी के 52 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा के फाइनल में उत्तरी आयरलैंड के ब्रेंडन इरवाइन को 4-1 से हराकर गोल्ड अपने नाम किया।

मैरीकॉम ने महिला मुक्केबाजी की 45-48 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा में गोल्ड अपने नाम कर लिया है। मैरीकॉम ने फाइनल में इंग्लैंड की क्रिस्टिना ओ हारा को 5-0 से मात देकर पहली बार राष्ट्रमंडल खेलों में पदक हासिल किया।

इसके अलावा हरियाणा के दो  मुक्केबाज अमित पंघाल ने 46-49 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा में और मनीष कौशिक ने 60 किलोग्राम भारवर्ग में बेहतरीन प्रदर्शन कर सिल्वर मेडल भारत की झोली में डाला।

शूटिंग

सजींव राजपूत ने पुरुषों की 50 मी. राइफल थ्री पोजीशन में सटीक निशाना साधते हुए गोल्ड मेडल पर कब्जा किया। संजीव ने बेलमोंट शूटिंग सेंटर पर कुल 454.5 का स्कोर करते हुए गेम रिकार्ड के साथ गोल्ड हासिल किया। इसी स्पर्धा में भारत के चैन सिंह को पांचवां स्थान मिला है।
बैडमिंटन

हिसार की महिला बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल और पुरुष में श्रीकांत किदांबी ने  कैरारा स्पोर्ट्स एरेना पर खेले गए मैच में स्कॉटलैंड की कस्र्टी गिल्मर को कड़े मुकाबले में 21-14, 18-21, 21-17 से मात देकर सिंगल्स वर्ग के फाइनल में प्रवेश कर लिया है।
बता दें कि भारत के आज करीब दर्जन भर से भी ज्यादा पदक दांव पर लगे हुए हैं और भारत के खिलाड़ी बाकी खेलों में भी अच्छी खासी संख्या में पदक अपनी झोली में डाल सकते है।

आखिरी दिन भारतीय खिलाड़ियों ने इन खेलों में साल 2014 के मैनचेस्टर में मिले गोल्ड मेडल को तो बहुत पीछे छोड़ दिया है। अब देखने वाली बात यह होगी कि कुल पदकों की संख्या के मामले खिलाड़ी मैनचेस्टर के आस-पास पहुंच पाते हैं या नहीं।

बता दें कि कुल मिलाकर अब भारत के पदकों की संख्या 47 हो गई है। इसमें 20 गोल्ड, 13 सिल्वर और 14 ब्रोंज मेडल शामिल है।

 

 

2 thoughts on “कॉमनवेल्थ 2018: आखिरी दिन भी चला हरियाणा के खिलाड़ियों का दम, लगाई गोल्ड मेडल की झड़ी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *