पत्र का जवाब पत्र से, अब पंजाब के सीए ने लिखा सीएम खट्टर को पत्र

Breaking बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा

मनोहर लाल के पत्र का जवाब पत्र से देते हुए पंजाब से मुख्यमंत्री ने कहा है कि पाकिस्तान जा रहे रावी-ब्यास नदी के पानी को रोकने में पंजाब समर्थ नहीं है। राज्य सीमा में कहीं भी बांध बनाकर पानी को रोक पाना संभव नहीं है।

लेकिन पंजाब के सीम के पत्र पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने असहमति जताई है कि पाकिस्तान जा रहे पानी को रोकने को लेकर बेशक हरियाणा और पंजाब में कोई टकराव ना हो लेकिन इस पानी को राज्यों और जनहित के लिए रोकना चाहिए।

CM खट्टर ने कहा कि पंजाब अगर यह मानता है कि बांध बनाना संभव नहीं है तो हरियाणा इसके लिए सेंट्रल वाटर ट्रिब्यूनल के पास जाकर रास्ता तलाशेगा।

बता दें कि मुख्यमंत्री ने 6 मई को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को पत्र लिखकर पाकिस्तान जा रहे रावी-ब्यास के पानी को रोकने के लिए पंजाब में कहीं बांध बनवाने का आग्रह किया था।

वहीं केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भी रोहतक में पानी रोकने की बात कहीं थी। हालांकि इस पानी को रोकने की बात साल 2008 से चल रही है।

अगर पाकिस्तान जा रहे पानी को बांध बनाकर रोक लें तो देश के हिस्से का 1112 क्यूसेक यानी 5.60 लाख एकड़ फीट पानी बचेगा। 1947 में बंटवारे के समय भारत को सतलुज, रावी और ब्यास नदियां मिली थी तो वहीं पाकिस्तान को सिंधु, झेलम और चिनाब नदियां मिलीं थीं। इसके बावजूद भारतीय नदियों का पानी पाकिस्तान जा रहा है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *