​मंडी ऑनलाइन प्रक्रिया का आढ़ती फिर से करेंगे विरोध

हरियाणा

अनाज मंडी के नवनियुक्त प्रधान कृष्ण मित्तल पाई ने कहा है कि वह किसी विशेष राजनीतिक दल के सहयोग से विजय नहीं हुए हैं बल्कि सब आढ़ती भाईयों व सभी राजनीतिक दलों के जनसमर्थन से उन्हें सफलता मिली है। ऐसे में किसी एक राजनीतिक दल द्वारा उनके विजयी होने पर राजनीति करना गलत है, क्योंकि मंडी का चुनाव हमेशा भाईचारे का चुनाव होता है और दलगल राजनीति से ऊपर उठकर लड़ा जाता है।

मंडी के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष धर्मपाल जिंदल के प्रतिष्ठान पर बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि मंडी के हित के लिए उन्हें किसी भी राजनीति दल के पास जाना पड़े वह जाएंगे, चाहे वह स्थानीय विधायक रणदीप सुर्जेवाला हों या भाजपा के उच्च नेता। मंडी ऑनलाइन के संदर्भ में पूछे जाने पर मित्तल ने कहा कि यह ऑनलाइन प्रक्रिया आढ़ती व किसान के हित में नहीं है तथा इसका पूरी तरह डटकर विरोध किया जाएगा। इससे आपसी भाईचारा मंडी में खराब होगा।

आगामी गेहूं के सीजन के विषय में बोलते हुए मंडी प्रधान कृष्ण मित्तल ने कहा कि पिछले वर्ष की भांति इस वर्ष भी पूरी कोशिश रहेगी कि किसी कीमत पर भी उठान के नाम पर आढ़ती द्वारा रिश्वत न देनी पड़े, चाहे इसके लिए मंडी एसोसिएशन को किसी से भी क्यूं न मिलना पड़े। लाईसैंस रिन्यू के संदर्भ में उन्होंने कहा कि जल्द ही इस बारे में उच्चाधिकारियों से मिलकर सभी आढ़तियों का लाईसैंस रिन्यू करवाया जाएगा। इस मौके पर उनके साथ सुरेंद्र सरदाना, ईश्वर गोयल, राधे श्याम पाडला, प्रेम चंद अटैला, बलकार, हरिदास जिंदल, तुषार मंगल, राजीव गर्ग सेरधा, शीशपाल पाई व महावीर पाई आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *