27.3 C
Haryana
Thursday, September 24, 2020

MBBS की 860 सीटों और BDS की 840 सीटों पर दाखिले के लिए प्रक्रिया निर्धारित, कोर्स बीच में छोड़ा तो लगेगा जुर्माना

Must read

Thyroid के कारण क्या आपका भी बढ़ रहा है वजन? इन टिप्स से करें कंट्रोल

Yuva Haryana News Chandigarh , 23 September , 2020 पुरे देश में कोरोना की मार पड़ रही हैं। हर कोई इस जानलेवा बीमारी से बचता नजर...

हरियाणा पुलिस की Anti Human Traffic यूनिट की मेहनत लाई रंग, परिजनों से हुआ मिलन

Yuva Haryana News Chandigarh, 23 September, 2020 हरियाणा पुलिस की एंटी ह्यूमन ट्रैफिक यूनिट (एएचटीयू) ने इस साल सितंबर माह में अब तक तीन गुमशुदा बच्चों...

Haryana में आज कोरोना के 1986 नए केस आए, जिलेवार का हाल जानिए

Yuva Haryana News Chandigarh, 23 September, 2020 हरियाणा में पिछले दिनों के मुकाबले कोरोना संक्रमितों के आंकड़ें कम होने लगे हैं। पहले दो हजार से अधिक...

Married Couple को इन चीजों से रहना चाहिए दूर, नहीं तो होगा कुछ ऐसा 

Yuva Haryana News Chandigarh , 23 September , 2020 जब हम Unmarride होते है तो अक्सर हम किसी न किसी लड़के या लड़की को Date कर...
हरियाणा सरकार ने राजकीय, राजकीय सहायता प्राप्त, निजी मेडिकल और डैंटल शैक्षणिक संस्थानों तथा एसजीटी विश्वविद्यालय, बुढेड़ा, गुरुग्राम (निजी विश्वविद्यालय) सहित शैक्षणिक सत्र 2018-19 के लिए एमबीबीएस व बीडीएस पाठ्यक्रमों में प्रवेश हेतु प्रक्रिया निर्धारित की है और इस सम्बन्ध में हरियाणा चिकित्सा शिक्षा और अनुसंधान विभाग द्वारा एक अधिसूचना जारी की गई है।
विभाग द्वारा जारी की गई अधिसूचना में पिछले नियमों में कुछ संशोधन भी किए गये हैं। इन संशोधनों के अन्तर्गत अंडरग्रेजुएट पाठ्यक्रमों के शुरू होने के पश्चात यदि कोई उम्मीदवार पाठ्यक्रम पूरा होने से पूर्व उसे छोड़ता है तो प्रवेश के समय दिए गये 5 लाख रुपये बॉण्ड की राशि का भुगतान करना होगा। उम्मीदवार को प्रवेश के समय दो श्योरिटीज के साथ एक बॉण्ड देना होगा, जो प्रथम श्रेणी मैजिस्ट्रेट द्वारा सत्यापित होना चाहिए कि वह पाठ्यक्रम को पूर्ण होने से पहले नहीं छोड़ेगा। यह संस्थान को यह अधिकार होगा कि वह प्रक्रियानुसार डिफाल्टर उम्मीदवार से ऐसी राशि की रिकवर कर सकता है। यही प्रक्रिया संशोधन प्रबन्धन श्रेणी के अन्तर्गत लिए जाने वाले प्रवेश में भी लागू होगी।
उम्मीदवार को वार्षिक आधार पर फीस का भुगतान करना होगा और संस्थान पूरे पाठ्यक्रम की फीस एडवांस में भुगतान करने के लिए उम्मीदवार पर दवाब नहीं बनाएगा। सफल उम्मीदवारों द्वारा प्रथम वर्ष की फीस डिमांड ड्राक्रट के माध्यम से रजिस्ट्रार पंडित भगवत दयाल शर्मा आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय, रोहतक को जमा करवाई जाएगी। प्रवेश प्रक्रिया पूर्ण होने के पश्चात प्रवेश समिति के चेयरमैन द्वारा सम्बन्धित संस्थान को यह फीस हस्तांतरित की जाएगी। लगातार काउंसलिंग में एक संस्थान से दूसरे संस्थान में आवेदक को शिफ्ट करने की स्थिति में फीस रिफण्ड या एडजेस्ट की जाएगी।

यदि उम्मीदवार की मृत्यु हो जाती है या उस गम्भीर मानसिक बीमारी या गम्भीर शारीरिक चोट पहुंचती है तो उस स्थिति में फीस रिफण्ड की जा सकती है। उन्होंने बताया कि उम्मीदवार को निजी कालेजों में प्रवेश लेने के लिए केवल काउंसलिंग  के समय 50 प्रतिशत फीस जमा करवानी होगी और फीस का शेष भाग प्रवेश की अंतिम तिथि से पहले संस्थान को जमा करवा होगा।

More articles

Latest article

Thyroid के कारण क्या आपका भी बढ़ रहा है वजन? इन टिप्स से करें कंट्रोल

Yuva Haryana News Chandigarh , 23 September , 2020 पुरे देश में कोरोना की मार पड़ रही हैं। हर कोई इस जानलेवा बीमारी से बचता नजर...

हरियाणा पुलिस की Anti Human Traffic यूनिट की मेहनत लाई रंग, परिजनों से हुआ मिलन

Yuva Haryana News Chandigarh, 23 September, 2020 हरियाणा पुलिस की एंटी ह्यूमन ट्रैफिक यूनिट (एएचटीयू) ने इस साल सितंबर माह में अब तक तीन गुमशुदा बच्चों...

Haryana में आज कोरोना के 1986 नए केस आए, जिलेवार का हाल जानिए

Yuva Haryana News Chandigarh, 23 September, 2020 हरियाणा में पिछले दिनों के मुकाबले कोरोना संक्रमितों के आंकड़ें कम होने लगे हैं। पहले दो हजार से अधिक...

Married Couple को इन चीजों से रहना चाहिए दूर, नहीं तो होगा कुछ ऐसा 

Yuva Haryana News Chandigarh , 23 September , 2020 जब हम Unmarride होते है तो अक्सर हम किसी न किसी लड़के या लड़की को Date कर...

Haryana के युवाओं को अप्रेंटिस का सुनहरा मौका, 25 हजार पदों पर अप्रेंटिस की तैयारी

Yuva Haryana News Chandigarh, 23 September, 2020 हरियाणा के कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री श्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार ने अप्रेंटिस अधिनियम,...