17 साल की महकजोत ने अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी किलिमंजारो पर पाई फतेह

Breaking चर्चा में दुनिया देश बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Karamjeet SIngh Virk, Yuva Haryana

Karnal, 31 Oct, 2018

सपनों की कोई उम्र सीमा नहीं होती। सपने हर कोई देख सकता है और उसे अपनी मेहनत व काबिलियत के बल पर पूरा भी कर सकता है।  ऐसा ही कुछ करनाल की 17 वर्षीय महकजोत ने अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी किलिमंजारो पर फतेह पाकर साबित कर दिखाया है। महकजोत ने विश्व की 7 सबसे बड़ी चोटियों पर फतेह हासिल कर देश का परचम लहराने की ठानी है।

महकजोत सिर्फ 17 साल की है। अपनी प्रक्टिस के बाद बिना किसी स्पेशल ट्रेनिंग के पहली बारी में ही इतनी बड़ी कामयाबी हासिल कर ली है और इसमें अहम योगदान रहा है पर्वतारोही अनीता कुंडू का, जिसने महकजोत का साथ एक गुरु की तरह दिया है।

महकजोत दुनिया की पहली सिख बेटी व नोजवान बेटी है जिसने 17 साल की उम्र में किलिमंजारो की चोटी पर फतेह हासिल की है। रास्ते में हजारो परेशानियां आई, कदम लड़खराए, डर भी लगा। लेकिन महक ने उस डर के आगे की जीत के बारे में सोचकर हार नहीं मानी और आगे चलते बढ़ते हुए उसने किलिमंजारो पर फतेह हासिल कर देश का परचम लहराया ।

17 साल की यह बेटी अब दिसम्बर माह में साउथ अमेरिका की ऊंची चोटी एकांकागुआ पर अपनी फतेह हासिल करेगी। जिसके लिए वह जी तोड़ मेहनत कर रही है और अगर महकजोत कामियाब होती है, तो वह देश की पहली नोजवान बेटी होगी, जिसने एकांकागुआ की चोटी पर देश का परचम लहराया होगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *