गर्भवती दादी की पोते ने की थी हत्या, कोर्ट ने सुनाई उम्रकैद और एक लाख का जुर्माना

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana,

Nuh, 06 Mar,2019

हरियाणा के नूंह मेवात की अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश कुमुद गुगनानी की अदालत ने एक आरोपी पोते को उसकी गर्भवती दादी की हत्या के जुर्म में उम्रकैद की सजा सुनाई है। अब आरोपी को सजा काटने के लिए भौंडसी जेल भेज दिया गया है। अदालत ने इस केस में 3 आरोपियों को बरी कर दिया है।

दरअसल बुखारका गांव के अब्दुल मजीद ने पुन्हाना उपमंडल के बिसरू गांव की मृतका साहूनी के साथ 10 साल पहले दूसरी शादी की थी। अब्दुल मजीद की पहली पत्नी से पुत्र और पोते भी हैं। साहूनी के साथ शादी के बाद उसकी  3 लड़कियां हुई। तीन लड़कियां होने के बाद साहूनी करीब 8 माह की गर्भवती थी।

शादी के बाद से साहूनी के साथ ससुराल पक्ष द्वारा कई बार मारपीट भी की गई। 16 मई 2016 को गर्भवती साहूनी के साथ मारपीट करते हुए अब्दुल मजीद के पोते मतीन ने फरसे से उसकी हत्या कर दी। साहूनी को मौत के चलते उसके गर्भ में पल रहा बच्चा भी मर गया।

साहूनी की मौत के बाद उसके भाई खुर्शीद ने 17 मई 2016 को नगीना थाने में पति अब्दुल मजीद समेत उसके लड़के सलीम और पत्नी शहनाज और पोते मतीन के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करा दिया। हत्या के  मामले में पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

जिसके बाद करीब ढाई वर्ष चले इस केस में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश कुमुद गुगनानी की अदालत ने आरोपी अब्दुल मजीद, सलीम और शहनाज को बरी करते हुए और आरोपी पोते मतीन को दोषी ठहराते हुए अदालत ने मतीन को उम्रकैद और एक लाख रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *