बिजली बिलों के तैयार हो रही मोबाइल ऐप, जान सकेंगे बिल की जानकारी

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana
हरियाणा बिजली विनियामक आयोग (एचईआरसी) के चेयरमैन दीपेन्द्र सिंह ढेसी ने आज गुरूग्राम के लोक निर्माण विश्राम गृह में समाज के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों (ईडब्ल्यूएस) को बिजली की व्यवस्था सुचारू करने तथा स्मार्ट मीटरिंग को लेकर संबंधित विभागों के अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली और उन्हें आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
बैठक में उन्होंने टाउन एंड कंट्री प्लानिंग, हरियाणा हाउसिंग बोर्ड तथा दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के अधिकारियों से ईडब्ल्यूएस वर्ग के लोगों के घरों तक बिजली पहुंचाने को लेकर फीडबैक लिया।

बैठक में अधिकारियों ने बताया कि निगम द्वारा इस संबंध में एक मोबाइल एप भी तैयार की जा रही है इससे बिजली उपभोक्ता हाईटैक तरीके से बिजली खपत का तुलनात्मक विश्लेषण कर सकेंगे । इन स्मार्ट मीटरों के माध्यम से बिजली उपभोक्ता प्रीपेड सुविधा का भी लाभ उठा सकेंगे। इतना ही नही स्मार्ट मीटर लाइन लाॅस कम करने में भी काफी कारगर साबित होगा जिसकी आॅनलाइन माॅनीटरिंग बिजली निगम द्वारा भी की जाएगी।

बैठक में ईडब्ल्यूएस प्लाॅटधारकों तथा ग्रुप हाउसिंग सोसायटी में रहने वाले ईडब्ल्यूएस के लोगों को बिजली कनेक्शन देने संबंधी बिंदुओं पर विस्तार से चर्चा की गई। बैठक में बताया गया कि हर काॅलोनी व सोसायटी में ईडब्ल्यूएस श्रेणी के लोगों के लिए 10 प्रतिशत आवास आरक्षित किए जाने का प्रावधान है। यहां पर बिजली की व्यवस्था सुचारू रूप से कैसे हो तथा इसमें कोई व्यवधान न आए आदि को लेकर ढेसी ने संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

एचईआरसी के चेयरमैन ढेसी ने अधिकारियों से पूछा कि ईडब्ल्यूएस श्रेणी के लोगों को सिंगल प्वाइंट या व्यैक्तिक रूप से बिजली के कनेक्शन दिए जा रहे हैं। इस विषय पर अधिकारियों की प्रतिक्रिया जानने उपरांत ढेसी ने कहा कि एचईआरसी जल्द ही इस संबंध में एक ऐसा रेगुलेशन बनाने जा रहा है जिसके तहत ईडब्ल्यूएस श्रेणी के लोगों को बिजली कनेक्शन संबंधी मामले में किसी प्रकार की कोई समस्या नही आएगी।

उल्लेखनीय है कि एचईआरसी को ईडब्ल्यूएस श्रेणी के लोगों की तरफ से सिंगल प्वाइंट कनेक्शन के संबंध में एक रिप्रेजेंटेशन मिला था। इसकी वास्तविकता को जानने के लिए एचईआरसी के चेयरमैन दीपेन्द्र सिंह ढेसी ने आज शुक्रवार को गुरूग्राम में पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि अधिकारी सुनिश्चित करें कि ईडब्ल्यूएस श्रेणी के लोगों को बिजली के कनेक्शन मिलने में किसी प्रकार की परेशानी ना आए और उन्हें कनेक्शन समय पर मिलें। उन्होंने कहा कि आज के समय में बिजली हमारी मूलभूत सुविधाओं में से एक है, इसलिए यह जरूरी है कि लोग इस सुविधा से वंचित ना रहें और उन्हें समय पर इसका लाभ मिलें।

इसके बाद एचईआरसी चेयरमैन ढेसी ने गुरूग्राम में लगाए जा रहे स्मार्ट मीटर की प्रगति की भी समीक्षा की। बैठक में डीएचबीवीएन के अधिकारियों ने बताया कि जिला में अब तक 41 हजार 384 स्मार्ट मीटर लगाए जा चुके हैं और अगले दो महीने में डीएलएफ क्षेत्र में शत प्रतिशत स्मार्ट मीटर लगाने की योजना है। उन्होंने बताया कि इन मीटरों के लगने से बिजली उपभोक्ता समय समय पर अपने बिजली की खपत संबंधी जानकारी से अपडेट रहेंगे जिससे पारदर्शिता बढ़ेगी।

इस अवसर पर एसटीपी अमरिक सिंह, डीटीपी आर. एस. भाट, एचईआरसी के कंसलटेंट एच.पी. शर्मा , डीएचबीवीएन के एसई जोगिन्दर सिंह, एक्सईएन सचिन यादव, हाउसिंग बोर्ड के एक्सईएन नरेन्द्र सिंह, एचईआरसी के डिप्टी डायरेक्टर (मीडिया) प्रदीप मलिक, सहित विभिन्न विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *