Home Breaking पिता ने बेटी को जिस महिला के पास सुरक्षित समझकर भेजा, वही बन गई तबाही का कारण

पिता ने बेटी को जिस महिला के पास सुरक्षित समझकर भेजा, वही बन गई तबाही का कारण

0

Shweta Kushwaha, Yuva Haryana

Panipat, 15 Nov, 2018

बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ का दावा करने वाली हरियाणा सरकार सिर्फ दावे ही करती रह गई है और दरिंदे बेटियों को नोंच- नोंच कर खा गए हैं। ऐसा ही एक शर्मनाक मामला पानीपत के समालखा से सामने आया है, जहां एक मजबूर पिता ने अपनी 14 वर्षीय बेटी को गरीबी के कारण एक महिला के पास महफूज समझकर भेजा था। लेकिन पिता नहीं जानता था कि वह बेटी की बरबादी का कराण बन जाएगी।

14 साल की नाबालिग बेटी को 30 से अधिक दरिंदों ने अपनी हवस का शिकार बनाया और अब वह ढाई महीने गर्भवती है। परजनों ने गर्भपात की अनुमति मांगी है।

क्या है पूरा मामला-

पिता ने बेटी को जिस महिला के पास भेजा, पहले तो उसके रिश्तेदार ने दुष्कर्म किया। नाबालिग ने विरोध किया, तो उसके साथ मारपीट भी की गई और कई समय तक अपनी हवस का शिकार बनाता रहा। इसके बाद महिला के पति और भाई ने भी नाबालिग के साथ दुष्कर्म किया। रिश्तेदार एक दिन नाबालिग को खेतों में ले गया और उसके चार साथियों ने भी नाबालिग के साथ दुष्कर्म किया।

जब नाबालिग 12 साल की हुई, तो उसे कुरुक्षेत्र के एक ढाबा संचालक के पास बेच दिया गया। ढाबा संचालक भी नाबालिग के साथ दुष्कर्म करता और अपने ग्राहकों से भी करवाता रहा।

वहीं जब भी पिता अपनी बेटी को लेने के लिए महिला के पास जाता, तो वह इधर- उधर की बात करके बात को घुमा देती। शक होने पर पिता ने पुलिल में सूचना दी और गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवा दी।

पुलिस ने लड़की को बरामद कर लिया, जिसके बाद उसके बयानों के आधार पर महिला सहित सभी आरोपियों के खिलाफ मामल दर्ज कर लिया गया। वहीं लड़की के परिजनों ने डीसी को पत्र भेजकर गर्भपात की मांग की है।

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

सरकारी स्कूलों में कार्यरत 1983 पीटीआई को राहत, फिलहाल बने रहेंगे पद पर

Yuva Haryana, Chandigarh स्कूल शिक्षा विभाग 1983 पीटीआई हटाने के आदेशों पर मौखिक रूप से रो…