भिवानी पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, 9 साल से फरार चल रहे कुख्यात अपराधी विनोद को किया गिरफ्तार

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Bhiwani, 20 May, 2019

भिवानी पुलिस ने हत्या, हत्या के प्रयास, फिरौती व अपहरण के 50 से अधिक मामले के आरोपी कुख्यात अपराधी एवं हरियाणा के मोस्ट वांटेड विनोद मित्ताथल को गिरफ्तार कर बड़ी कामयाबी हासिल की है। उम्र कैद की सजा पा चुका विनोद पिछले 9 सालों से पूरे प्रदेश की पुलिस की आंखों में धूल झोक रहा था, जो आखिरकार राजस्थान से एंटी व्हीकल थैफ्ट पुलिस के हत्थे चढ़ गया।
बता दें कि केवल भिवानी ही नहीं बल्कि हरियाणा के हर कोने में विनोद मित्ताथल का खौफ था। विनोद मित्ताथल ऐसा कुख्यात व बेरहम हत्यारा है जो फिरौती ना देने वाले शख्स की हत्या कर शव को जला देता था। विनोद ने पूरे हरियाणा में गैंग बना कर हत्या, लूट, फिरोती की वारदातों को अंजाम देता था। ना केवल डोक्टर या व्यापारी बल्कि राह का रोङा बनने पर विनोद पुलिस को भी अपनी गोली का निशाना बनाते नहीं हिचकता था।
एसपी गंगाराम पूनिया ने बताया कि एंटी व्हीकल थैफ्ट स्टाफ इंचार्ज कृष्ण मलिक को सूचना मिली थी कि हरियाणा का मोस्ट वांटेड विनोद मित्ताथल राजस्थान में छुपा हुआ है। उन्होने बताया कि विनोद की तलाश में एंटी व्हीकल थैप्ट टीम व सायबर सेल ने विनोद को राजस्थान के चुरू जिला के सरदारशहर पुलिस स्टेशन के दुदलासर गांव से गिरफ्तार किया। एसपी ने बताया कि विनोद यहां झोंपङी में तलघर (तहखाना) बनाकर रह रहा था।
उन्होंने बताया कि उसने 3 दिसंबर 2003 में सिवानी क्षेत्र में सुभाष नामक सिपाही की हत्या की थी। इस मामले में विनोद ने जेल जाने से बचने के लिए अपने अपहरण का झूठा नाटक किया। एसपी गंगाराम ने बताया कि विनोद के खिलाफ हत्या, हत्या के प्रयास, फिरौती व अपहरण जैसे 50 गंभीर मामले दर्ज हैं जिनमें से 12 मामलों में विनोद को सजा हो चुकी है। उन्होने बताया कि विनोद राजस्थान के चुरू जिला के गांव में एक झोपङी ने निचे तहखाना बना कर छुपा हुआ था।
फिलहाल पुलिस ने विनोद को उसके साथी प्रवीण मालवास को तीन पिस्टल व 15 कारतूसों के साथ गिरफ्तार किया है। पुलिस को उम्मीद है कि विनोद व उसके साथी से पुछताछ के दौरान पूरे प्रदेश की अन्य अपराधिक घटनाओं का खुलासा हो सकता है। बता दें कि विनोद पर भिवानी पुलिस ने दो लाख रुपये व रोहतक तथा झज्जर पुलिस ने 50-50 हजार रुपये का इनाम रखा हुआ था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *