स्वास्थ्य कर्मियों ने सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, 27 अगस्त को रोक सकते हैं काम

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें रोजगार हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana
Hisar, 18 August, 2018

बहुद्देशीय स्वास्थ्य कर्मचारी एसोसिएशन संबंधित सर्व कर्मचारी संघ ने राज्य कार्यकारिणी के आह्वान पर आज तीन दिवसीय क्रमिक अनशन के तीसरे दिन भी महिला कर्मचारियों ने मोर्चा संभाला। अनशन की शुरुआत से पूर्व देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपायी के निधन उपरांत शोक संवेदना प्रकट करते हुए मौन रख श्रद्धांजलि अर्पित की गई।क्रमिक अनशन और प्रदर्शन की।अध्यक्षता एसोसिएशन के जिला प्रधान अनिल गोयत ने की और मंच संचालन संयुक्त रूप से ज़िला सचिव बजरंग और ज़िला प्रेस सचिव नूर मोहमद ने किया।

तीन दिवसीय क्रमिक अनशन के तीसरे दिन अनशन पर बैठने वाले स्वास्थ्य कर्मचारियों में सुरेश कुमारी,दर्शना,ओमी देवी,शीला देवी,सुरेश,सुमन,विनोद कुमारी महिला बहुद्देशीय स्वास्थ्य कर्मचारी,रमेश रंगा,विनय सेतिया एचआई,विकास सन्द्लाना एमपीएचडब्ल्यू शामिल रहे। उषा गिल,शीला सोरखी,अनिल गोयत,सुरेन्द्र मान ज़िला प्रधान एसकेएस ने अनशन क्रमियों को माला पहनाकर अनशन पर बैठाया।

इस अवसर पर सर्व कर्मचारी संघ के ज़िला प्रधान सुरेन्द्र मान ने सरकार की जन विरोधी,कर्मचारी विरोधी नीतियों की विस्तारपूर्वक चर्चा की।वक्ताओ ने सरकार की झूठी,वायदाखिलापी और विश्वासघाती नीतियों की जमकर आलोचना करते हुए बताया कि एसोसिएशन काफ़ी लंबे समय से अपनी लंबित माँगों को लेकर संघर्षरत है जिनको मुख्यमंत्री,स्वास्थ्य मंत्री,अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य ),महानिदेशक स्वास्थ्य सेवाएं द्वारा स्वीकृति प्रदान करने के बावजूद अधिसूचना जारी नही की जा रही। बार बार झूठे आश्वासन देकर बरगलाया जा रहा है ।

अनिल गोयत ने सरकार को चेताते हुए बताया कि यदि क्रमिक  अनशन के बावजूद भी सरकार ने अधिसूचना जारी नही की तो 27 अगस्त से सभी स्वास्थ्य कर्मचारी को स्वास्थ्य सेवाएं बाधित करते हुए काम रोको हड़ताल करने को बाध्य होंगे।स्वास्थ्य सेवाएं बाधित होने के लिये जो असुविधाएं आमजन को होगी उसके लिये हरियाणा सरकार और स्वास्थ्य विभाग प्रशासन की होगी।

स्वास्थ्य कर्मचारियों की प्रमुख माँगों में निम्नलिखित माँगें शामिल हैं।
1) बहुद्देशीय स्वास्थ्य कर्मचारी वर्ग को तकनीकी घोषित किया जाए।
2) बहुद्देशीय स्वास्थ्य कर्मचारी एसोसिएशन के महिला और पुरुष कर्मियों को वेतनमान 9300-34800 ग्रेड पे 4200₹ सातवें वेतनमान आयोग में में लेवल 6 लागू करने की अधिसूचना जारी की जाए।
3) आरसीएच परियोजना में कार्यरत अनुबंधित महिला कर्मियो को 2 साल की सेवा उपरांत नियमित किया जाए,नियमित होने तक माननीय सुप्रीम कोर्ट के निर्णयानुसार समान काम समान वेतनमान लागू किया जाए।
4) एमपीएचडब्ल्यू पुरुष कर्मियों का वर्दी भत्ता,एफटीए बढ़ोतरी की अधिसूचना जारी की जाए।
5) आरसीएच परियोजना में कार्यरत एमपीएचडब्ल्यू महिला कर्मियो को एफटीए और वर्दी भत्ता दिया जाए।
6) नए बने स्वास्थ्य केंद्रों, स्वास्थ्य केंद्रों में नोर्म के अनुसार एमपीएचएस,एमपीएचडब्ल्यू महिला और पुरुष का पद सर्जित किया जाए।

क्रमिक अनशन में ज़िलेभर से आए सैंकड़ों बहुद्देशीय स्वास्थ्य कर्मचारियों ने भाग लिया जिनमें प्रमुख पदाधिकारियों में जितेंद्र मलिक,रतन शर्मा,प्रेम सैनी,रमेश मलिक,प्रताप कुंडू,सुरेश कोहली,अंग्रेज सिंह,विनय सेतिया,अनिल चहल,अमरजीत,जशवंत सिंह,संजय खटक,जगदीप मान,कमला,बिमला देवी,शीला देवी,सुरेश देवी,हसीना खान,अनीता,चंचल,नरेश कुमारी,नीरज कुमारी,राज़बाला यादव,सुरेन्द्र सोनी,विकास सन्द्लाना,दलबीर,रमेश कुंडू,प्रौमिला कुंडू,राममेहर शर्मा,अनिल उमरा,पुश्पेन्द्र,रामराज,सुनील शर्मा,अजीत सिंह,उमेद सिंह,सुनील अहलावत,महेंद्र यादव आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *