गुरुग्राम में सिक्स लेन हाईवे बनाने के लिए चला पीला पंजा, हुड्डा स्टेट अफसर ओर GMDA एक्शन आपस मे भिड़े

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Manu Mehta, Yuva Haryana

Gurugram, 21 Nov, 2018

साइबर सिटी गुरुग्राम के बसई चौक पर आज हुड्डा द्वारा मकानों और बसई गौशाला पर पीला पंजा चलाया गया। यह सभी मकान और गोशाला हुड्डा की लैंड पर बने थे, हुड्डा प्रशासन  द्वारा इन सभी मकान मालिकों और दुकान मालिकों को तकरीबन 10 महीने पहले नोटिस देकर बता दिया गया था कि जिस जगह पर उनके मकान बने हैं, उस जगह पर एक सिक्स लाइन का हाईवे बनना है। जिसको आगे जाकर एक्सप्रेसवे से जोड़ दिया जाएगा।

जब मकान मालिकों को इस नोटिस की जानकारी मिली, तो मकान मालिकों ने इससे कार्रवाई पर स्टे लेने के लिए कोर्ट में अपील दायर की, जिसमें कोर्ट ने उनको स्टे दे दिया । मगर कुछ दिन पहले ही जैसे ही स्टे हटा, तभी हरियाणा अर्बन डेवलपमेंट अथॉरिटी द्वारा मौका देख इन सभी मकानों को खाली कर तोड़ा जा रहा है।

इस पूरी कार्रवाई में लगभग 33 मकान ऐसे हैं जो सड़क पर हाईवे के बीचो-बीच आ रहे हैं, जिनको बहुत जल्द खाली कराकर पूर्ण रूप से हटा दिया जाए। इन मकान मालिकों ने बताया कि उन्हें यहां पर रहते हुए तकरीबन 20 से 22 साल हो गए हैं, जिसमें उनकी दो पीढ़ियां रह चुकी हैं। मगर अचानक हुई इस कार्रवाई के बाद मकान मालिक बहुत ज्यादा  परेशान नजर आ रहे हैं कि अब उनके पास कोई दूसरा आसरा नहीं है।

मकान मालिक सरकार से मांग करते नजर आ रहे हैं कि अगर उनको हमारे मकान ही तोड़ना है, तो उन्हें कहीं और मकान दिया जाए। अगर ऐसा नहीं किया जाएगा, तो वह लोग कहां जाएंगे। क्योंकि इन लोगों ने अपनी जमापूंजी पूरी इस मकानों में इन दुकानों में झोंक दिया है जिसके बाद अगर उन्हें कोई सही विकल्प नजर नहीं आया तो उनके पास कोई और चारा नहीं बचेगा।

हुड्डा द्वारा की गई इस पूरी कार्रवाई के दौरान जीएमडीए एक्शन वहां पर पहुंचे, जिन्होंने स्टेट ऑफिसर द्वारा की गई कार्रवाई में दखल देने की जैसे ही कोशिश की, तब एस्टेट ऑफिसर भड़क उठे और कहते नजर आए “मैं अपना कार्य सही तरीके से कर रहा हूं अगर चाहे तो मेरा ट्रांसफर करा दो, स्टेट ऑफिसर साफ तौर पर जेएमडी एक्शन को नाराज होते नजर आए और कह रहे थे कि मुझे ना बताया जाए कि काम कैसे होना है हमारा काम कर कर के गला सूख चुका है सुबह से और आप कह रहे हैं कि काम नहीं करते।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *