Home Breaking इनेलो नेताओं के जेल जाने से इतनी आहत नहीं हुई जितनी अब आहत हुई हूं- नैना चौटाला

इनेलो नेताओं के जेल जाने से इतनी आहत नहीं हुई जितनी अब आहत हुई हूं- नैना चौटाला

0
0Shares

MahaSingh, Yuva Haryana
Sivani Mandi, 01 Nov, 2018

डबवाली से इनेलो विधायक नैना चौटाला ने एक बार फिर भावुक होकर जनता से दुष्यंत चौटाला का साथ देने की अपील की। आज भिवानी के झोंझू कलां में हरी चुनरी चौपाल के दौरान नैना चौटाला ने कहा कि पार्टी के कुछ लोग अजय सिंह चौटाला को परिवार से मक्खी की तरह पार्टी से निकाल कर बाहर फैंकना चाहते हैं।

नैना चौटाला ने खुलासा करते हुए कहा कि अजय सिंह चौटाला का पिछले दो सालों से साजिशों का शिकार बनाया जा रहा है। हमारे खिलाफ पिछले दो सालों से साजिशें रची जा रही थी। अजय चौटाला ने पार्टी संठगन को मजबूत करने के लिए 40 वर्ष झौंक दिए।उन्होंने रायमलिकपुर से लेकर चंडीगढ़ तक पैदल चल कर गांव-गांव जाकर लोगों को पार्टी से जोड़ा है और पार्टी को नया जोश और ताकत दी। हरियाणा की जनता उनकी मेहनत और पार्टी के प्रति समर्पण को भुला नहीं सकती और ऐसे मंसूबे रखने वालों के षड्यंत्र को कभी कामयाब नहीं होने देगी।

यह बात डबवाली से इनेलो विधायिका नैना सिंह चौटाला ने झोंझू कलां के स्टेडियम में आयोजित हरी चुनरी की चौपाल में उमड़ी महिलाओं की भीड़ को संबोधित करते हुए कही। नैना चौटाला का यहां पहुंचने पर जोरदार स्वागत किया गया। डा. अजय सिंह चौटाला की कर्मभूमि बाढ़ड़ा हलके के झोंझू कला में पहुंची नैना चौटाला अपने संबोधन के दौरान कई बार भावुक नजर आई।

उन्होंने दुष्यंत चौटाला को दिए नोटिस के संदर्भ में कई सवाल जनता के समक्ष रखे। उन्होंने कहा कि जनता द्वारा चुने गए सांसद दुष्यंत चौटाला ने लोकसभा में जनता की आवाज उठाई, क्या देश की सबसे बड़ी पंचायत में जनता की आवाज बूलंद करना अनुशासनहीनता है। दुष्यंत और दिग्विजय ने पार्टी को मजबूत करने के लिए लाखों युवाओं को पार्टी से जोडऩे और छात्र संघ के चुनाव बहाल करवाने के लिए दिन रात काम किया।

नैना चौटाला ने कहा कि युवा शक्ति को पार्टी जोडऩा और छात्रों के हितों के लिए संघर्ष करनाअनुशासनहीनता है। उन्होंने गोहाना रैली में हुई नारेबाजी का जिक्र भी किया और सवाल पूछा कि क्या अपनी पार्टी और नेता के जिंदाबाद के नारे लगाना अनुशासनहीता है, नारे लगाना ही अनुशासनहीनता है तो फिर यह परम्परा तो ताऊ जी के जमाने से चली आ रही है और हर कार्यकर्ता ने इसे आगे बढ़ाया है। फिर दुष्यंत व दिग्विजय ने ऐसा अलग क्या कर दिया कि उन्हें निलंबन का नोटिस थमा दिया गया।  नैना सिंह चौटाला ने कहा कि कुछ लोग इस प्रकार के नोटिस दिलवा कर उन्हें दबाना चाहते हैं। डबवाली की विधायिका ने कहा कि जनता की आवाज परमात्मा की आवाज होती है।

नैना चौटाला ने कहा कि इनेलो नेताओं के जेल जाने भी ज्यादा आहत हुई हूं
नैना चौटाला ने कहा कि संकट की इस घड़ी में प्रदेश की जनता जो अपना प्यार समर्थन और आर्शीवाद दे रही है, उसके लिए मैं हमेशा आपकी कर्जदार रहूंगी। उन्होंने जब कहा कि वर्ष 2013 में जब पार्टी सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला और डा. अजय सिंह चौटाला के जेल जाने की घटना ने उन्हें हिला कर रख दिया था। इतना कहते हुए नैना चौटाला के आंसू छलक आए।

उन्होंने कहा कि उस घटना से ज्यादा आहत मैं अब पूरी तरह से अनुशासित और पार्टी के लिए दिन-रात एक करने वाले दुष्यंत और दिग्विजय को पार्टी से निकालने का नोटिस बारे पता चला तो वह अंदर तक टूट गई। आंखों से अश्रुधारा फिर बह निकली और वह बोली कि वह इस घटना से बेहद आहत हैं।

Hari Chunari Chaupal (Jhojhu Kalan, Dadri) LIVE

Hari Chunari Chaupal (Jhojhu Kalan, Dadri) LIVE

Gepostet von Naina Singh Chautala am Donnerstag, 1. November 2018

उन्होंने हरी चुनरी की चौपाल में उपस्थित जनसैलाब से समर्थन मांगते हुए कहा कि आप आप अपना प्यार व समर्थन दुष्यंत व दिग्विजय चौटाला के साथ बनाए रखें ताकि इनेलो पार्टी और संगठन को और मजबूती मिले। उन्होंने कहा कि महिलाएं लोकतंत्र में अपनी ताकत को कम न आंके और अपनी मनचाही इनेलो की सरकार बनाने के लिए दिन-रात संगठित होकर मेहतन करें और पार्टी सुप्रीमो औमप्रकाश चौटाला को मजबूती प्रदान करें।

नैना चौटाला ने कहा कि चौ. ओमप्रकाश चौटाला जी संगठन और परिवार के मुखिया हैं, उनका नेतृत्व और दिशा-निर्देश हमें सदा मंजूर है और हमेशा रहेगा। उन्होंने कहा कि इनेलो पार्टी ताऊ स्व. देवीलाल जी का लगाया हुआ एक वटवृक्ष है और कुछ लोग पार्टी को दीमक की तरह खा कर खोखला करना चाहते हैं, उनके मंसूबे प्रदेश की जनता किसी भी सूरत में पूरे नहीं होने देगी।

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

हरियाणा में कोरोना ने आज तोड़े सारे रिकॉर्ड, 300 से ज्यादा केस, देखें मेडिकल बुलेटिन

Yuva Haryana, Chandigarh ये भी पढ़िय…