महिला सरपंचों को फ्रंट फुट और उनके पतियों पर बैकफुट पर लाओ- नैना चौटाला

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana

बाढड़ा से विधायक नैना सिंह चौटाला ने बुधवार को विधानसभा में प्रदेश की महिलाओं को राजनैतिक व सामाजिक रूप से सशक्त करने के लिए महिला सरपंचों को फ्रंट फुट पर लाने की मांग की। उन्होंने आज विधानसभा में प्रदेश के सरकारी व निजी स्कूलों में समानता लाने के लिए विद्यार्थियों को टेबल व बैंच उपलब्ध करवाने,शिक्षा की गुणवत्ता में और मिड-डे मिल की क्वालिटी में सुधार करने, आंगनवाड़ी केंद्रों में बागवानी शुरू करने व प्रदेश में बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं के लिए ठोस कदम उठाने का मुद्दा उठाया। मुख्यमंत्री शगुन योजना के लाभ के लिए तीन माह की शर्त समाप्त करने की भी नैना चौटाला ने मांग की। इसके अलावा जेजेपी विधायक ने अपने विधानसभा क्षेत्र बाढड़़ा में महिला कालेज खोलने, स्टेडियम का निर्माण करने, कादमा में बस स्टैंड बनाने, कादमा कांड पीडि़तों को पेंशन का लाभ देने की भी मांग सरकार से की।

आज विधानसभा में महामहिम राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा में भाग लेते हुए नैना सिंह चौटाला ने कहा कि प्रदेश में पढ़ी लिखी पंचायतों के गठन होने के बावजूद भी महिला सरपंचों को राजनैतिक व समाजिक रूप से आगे बढऩे का मौका नहीं मिल रहा है। ग्राम पंचायत के अधिकांश सरकारी अथवा गैर सरकारी कार्य महिला सरपंचों के पतियों द्वारा किए जाते हैं और महिला सरपंच की सक्रियता न के बराबर रहती है। नैना चौटाला ने सरकार से मांग की कि सरकार ऐसा प्रावधान करे कि महिला सरपंच ही पंचायतों के कार्य स्वयं निपटाने के लिए आगे आएं। इसके लिए सरंकार को महिला सरपंचों को सुविधाएं देने और उन्हें जागरूक करने के लिए आगे आना चाहिए।

उन्होंने प्रदेश में चिकित्सा सेवाएं श्रेष्ठ बनाने के लिए सरकारी अस्तपालों में चिकित्सकों की नियुक्ति करने, चिकित्सा उपकरण उपलब्ध करवाने तथा विभिन्न प्रकार के मेडिकल टेस्ट की निशुल्क सुविधाएं गांवों में देने की मांग भी की। उन्होंने कहा कि प्रदेश के अस्पतालों में दवाईयां पूरी उपलब्धनहीं हो पाती हैं। उन्होंने कहा कि कैशलैस व पेपरलैस तरीके से लगभग 1350 प्रकार की स्वास्थ्य सेवाओं का लाभप्रदान किया जा रहा है। परंतु धरातल पर वास्तविकता कुछ और ही दिखाई देती है।

बाढड़ा से विधायक नैना चौटाला ने कहा कि मुख्यमंत्री मुफ्त ईलाज योजना प्रमुख रूप से फ्री लैब टेस्ट पर पूरा फोक्स दिया जाए क्योंकि मरीजों को निजी लैब में टेस्ट करवाना मंहगा पड़ता है। नैना चौटाला ने सरकार से होम्योपैथी व आयुर्वेद, योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा को प्रदेश के हर हिस्से में बढ़ावा देने पर जोर दिया।

नैना चौटाला ने विधानसभा में प्रदेश में सम्मान-वृद्धावस्था, विधवा व विकलांग पेंशन से वंचित सभी पात्रों को पेंशन का लाभ देने की भी मांग की। उन्होंने विधानसभा में मुख्यमंत्री शगुन योजना का मुद़्दा उठाते हुए कहा कि इस योजना के तहत 51 हजार रूपये की राशि का लाभ लेने के लिए विवाह का कार्ड प्रशासन को तीन माह पूर्व उपलब्ध करवाने की शर्त समाप्त की जाए ताकि गरीब कन्याओं को इसका लाभ प्रशासनिक स्तर पर अन्य किसी फंड से तुरंत दिया जा सके। उन्होंने कहा कि तीन माह की शर्त के चलते अनेक गरीब कन्याओं को शगुन योजना का लाभ नहीं मिल पाता क्योंकि तीन माह पहले शादियों की तारीख निर्धारित बहुत कम परिवारों में होती है।

स्कूली शिक्षा में की गुणवत्ता में सुधार की मांग करते हुए नैना चौटाला ने कहा कि आज भी अनेक ऐसे स्कूल हैं जहां बच्चों को जमीन पर टाट-पट्टी पर बैठकर पढ़ाई करनी पड़ती है। उन्होंने निजी स्कूलों व सरकरी स्कूलों में समानता लाने के लिए सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों को टेबल व बैंच उपलब्ध करवाने की मांग की। उन्होंने कहा कि मिड-डे मिल के लिए मिलने वाले गेहूं के लिए सल्फास की गोलियां का प्रयोग कम से कम किया जाए ताकि की गेंहू की गुण्रपत्ता पर असर न पड़े। उन्होंने सरकार से राईट टू एजेशन के साथ साथ सरकारी स्कूलों में राइट एजुकेशन प्रदान करने के लिए सभी स्कूलों में एक समान पाठ्यक्रम लागू करने की भी मांग की।

– बाढड़ा की मांगे भी उठाई
महामहिम राज्यपाल के अभिभाषण के चर्चा के दौरान नैना चौटाला ने आज अपने विधानसभा क्षेत्र बाढड़़ा की मांगें भी विधानसभा में रखी। उन्होंने कादमा कांड के पीडि़तों के लिए पेंशन योजना का लाभ देने, बस अड्डे का निर्माण करने की भी मांग की। नैना चौटाला ने कहा कि बाढड़़ा हलके में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए एक नवोदय विद्यालय और कादमा में महिला कालेज खोला जाए। महिला कालेज के लिए पंचायत निशुल्क जमीन देने को तैयार है और कालेज की इमारत का निर्माण भी क्षेत्रवासी आर्थिक मदद देने को तैयार हैं। उन्होंने सदन में मुख्यमंत्री द्वारा बाढड़ा में स्टेडियम निर्माण करने की घोषणा याद दिलवाते हुए कहा कि क्षेत्र की लड़कियों ने खेलों में बड़ा नाम कमाया है और उनके लिए स्टेडियम का निर्माण अतिशीघ्र किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *