एक साल पहले बर्बाद हुए फसल का आज तक नहीं मिला मुआवजा, धरना दे रहे किसान -नैना चौटाला

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा

Yuva Haryana

Chandigarh, 22 Feb, 2019

हरियाणा विधानसभा बजट सत्र के तीसरे दिन जेजेपी सर्मथित डबवाली से विधायक नैना सिंह चौटाला ने राज्यपाल के अभिभाषण पर बोलते हुए सदन में कई मुद्दे उठाए। उन्होंने किसानों, युवाओं और महिलाओं के हितों के संरक्षण और विकास के लिए सदन में अपनी बात रखी।

नैना सिंह चौटाला ने हरियाणा को कृषि प्रधान राज्य बताते हुए किसानों से जुड़े कई मुद्दे सदन में उठाए। उन्होंने कहा कि किसानों की आय दोगुना करना तो दूर की बात है, आज उन्हें उनकी फसल का न्यूनतम मूल्य भी नहीं मिल रहा है और किसान एमएसपी से कम दाम पर अपनी फसल बेचने को मजबूर है। उन्होंने पिछले हफ्तों में बार-बार हुई ओलावृष्टि से फसलों को हुए भारी नुकसान की भरपाई के लिए किसानों को जल्द से जल्द मुआवजा देने की मांग भी सरकार से की।  नैना सिंह चौटाला ने सदन में कहा कि गेहूं, चना और सरसों की फसलों कई जगह तो पूरी बर्बाद हो गई हैं। कुल 13 जिलों में खड़ी फसल ओलावृष्टि से प्रभावित हुई है और सरकार को इनकी गिरदावरी तुरंत करवाकर किसानों को मुआवजा देना चाहिए। उन्होंने मंडी डबवाली में किसानों को साल 2018 की शुरूआत में खराब हुई फसल का मुआवजा नहीं मिलने का मुद्दा भी सदन में उठया। नैना चौटाला ने कहा कि इन किसानों को मुआवजा लेने के लिए करीब दस दिन तक भूख हड़ताल करनी पड़ी लेकिन किसानों की इस समस्या की सुनवाई कही भी नहीं की गई। इसके अलावा उन्होंने स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को किसानों की मुख्य आवश्यकता बताते हुए उन्हें लागू करने और किसानों को यूरिया आदि खाद पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध करवाने की मांग सरकार से की।

विधायक नैना सिंह चौटाला ने हरियाणा में बढ़ रहे नशे को प्रदेश के लिए चिंता का विषय बताया। उन्होंने बताया कि किस तरह से हमारा प्रदेश नशे के जंजाल में फंसता जा रहा है जिसका प्रमुख कारण बेरोजगारी और नशे की नाकेबंदी ना होना आदि है। नैना सिंह चौटाला ने जिला सिरसा में बढ़ रहे चिट्‌टा यानि हेरोइन के नशे का जिक्र करते हुए कहा कि जिला सिरसा व उनके विधानसभा क्षेत्र डबवाली में आज अधिकतर नौजवान चिट्टा नाम के नशे की लत का शिकार होकर अपनी जान गंवा चुके हैं। उन्होंने सरकार से अपील करते हुए सिरसा जिले में नशे के खिलाफ सख्त कदम उठाने की मांग की। इसके अलावा उन्होंने सरकार से अवैध हथियारों पर शिकंजा कसने की अपील भी की क्योंकि आज ज्यादातर युवाओं के पास अन्य राज्यों से हथियार पहुंच रहे है, जो प्रदेश की कानून व्यवस्था के लिए चिंता का विषय है।

स्वास्थ्य के विषय पर बोलते हुए विधायक नैना चौटाला ने अपने क्षेत्र के लिए कैंसर हॉस्पिटल खोलने की मांग सदन में की। उन्होंने कहा कि सरकार सिरसा जिले में कैंसर हॉस्पिटल की व्यवस्था करे क्योंकि उनके क्षेत्र में इस बीमारी के केस बहुत अधिक पाए जा रहे हैं और वहां कैंसर के इलाज के लिए फिलहाल कोई व्यवस्था नहीं है। विधायक नैना चौटाला ने उनके विधानसभा क्षेत्र में फैल रहे स्वाइन फ्लू के प्रकोप पर भी चिंता जताई। उन्होंने कहा कि गांव पन्नीवाला में एक व्यक्ति की मौत स्वाइन फ्लू की वजह से हो गई जबकि डबवाली शहर में स्वाइन फ्लू के कई मामले सामने आए है इसलिए स्वास्थ्य विभाग इस तरफ ध्यान दे।

सदन में इसके अलावा नैना चौटाला ने महिलाओं और बच्चों से संबधित कुपोषण के मुद्दे को उठाया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आज 70 प्रतिशत बच्चे और 54 प्रतिशत गर्भवती महिलाएं कुपोषण के शिकार है, जिसकी वजह से प्रदेश में आए दिन नवजात बच्चों और गर्भवती महिलाओं की मृत्यु दर बढ़ती जा रही है। नैना चौटाला ने कहा कि प्रदेश के सभी अस्पतालों में डॉक्टरों की ड्यूटी लगाकर महिलाओं को पर्याप्त मात्रा में आयरन और विटामिन की गोलियों उपलब्ध करवाई जाए ताकि प्रदेश से कुपोषण दूर हो। साथ ही इसके लिए ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को जागरूक भी किया जाए।

उन्होंने कहा कि उनके विधानसभा क्षेत्र डबवाली के लोगों को पीने के पानी के लिए भारी समस्या का सामना करना पड़ रहा हैं। गांव कालुआना का जिक्र करते हुए नैना चौटाला ने कहा कि उनके विधानसभा मे सबसे ज्यादा पीने के पानी की समस्या इस क्षेत्र में है। यहां पानी की डिग्गियां बहुत छोटी है और नहरी पानी के लिए किसी भी प्रकार का कोई प्रबंध नहीं है। इसलिए उनके विधानसभा क्षेत्र के गांवों के वाटर बॉक्स की डिग्गियों को बड़ा करवाया जाए और ग्रामीणों के लिए स्वच्छ पानी सरकार उपलब्ध करवाए।

मंडी डबवाली के गांव चौटाला से चंडीगढ़ की बस सेवा बंद करने पर विधायक नैना चौटाला ने कड़ी नाराज़गी जताते हुए इसका कारण सरकार से पूछा। उन्होंने कहा कि एकमात्र बस वहां के लोगों को चंडीगढ़ आने के लिए मिली थी, लेकिन परिवहन विभाग ने मात्र 15 दिन में ही उसे बंद कर दिया। जिसके जवाब में प्रदेश के परिवहन मंत्री ने उस बस सेवा को घाटे का सौदा बताया। अंत में विधायक नैना ने चौटाला ने परिवहन मंत्री ने उस बस सेवा को दोबारा से शुरु करने की मांग भी की।

सदन में विधायक नैना चौटाला ने प्रदेश में आवारा पशुओं की समस्या का भी मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि आवारा पशुओं की बढ़ रही समस्या ऐसा ही एक संकट है जो लगातार बढ़ता जा रहा है। सड़कों, बाजारों, गलियों, खेतों में घूम रहे आवारा पशुओं के कारण हर रोज बेकसूर कीमती मानवीय जिंदगियां मौत के मुंह में जा रही हैं। उन्होंने कहा कि सरकार गायों को लेकर हमेशा बात करती है लेकिन इनकी समस्या के समाधान की ओर ध्यान कम देती है। गऊशालाओं में चारे के लिए प्रति गाय का खर्चा 40 रुपये पड़ता है, फिर भी गायें आवारा फिरती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *