गठबंधन तभी होना चाहिए जब विचार मिलते हों, बिना विचार मिले हुए गठबंधन जब टूटते हैं तो काफी नुक्सान होता है- नैना चौटाला

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति शख्सियत हरियाणा हरियाणा विशेष

Pradeep Dhankhar, Yuva Haryana

Jhajjar, 7 April, 2019

सांसद बेटे दुष्यंत चौटाला की ससुराल में हरी चुनरी चौपाल कार्यक्रम में पहुंची विधायक नैना चौटाला भीड़ को देखकर गदगद नजर आईं और उन्होंने कहा की समधाने में अच्छा रिस्पांस मिला है। गौरतलब है की हरी चुनरी चौपाल कार्यक्रम के तहत आज बेरी विस के गांव गौच्छी में 44 वां हरी चुनरी चौपाल कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

यह गांव दुष्यंत चौटाला की ससुराल भी है, तो इस कार्यक्रम का महत्व भी बढ़ जाता है। कार्यक्रम में दुष्यंत की सास व अन्य परिजन भी शामिल हुए। नैना चौटाला ने इस अवसर पर प्रदेश की भाजपा सरकार पर जमकर निशाने साधे और कहा की वर्तमान सरकार के दौरान महिलाओं का हाल सबसे बुरा है।

चार माह की बच्ची से लेकर 60 साल की महिला के साथ आए दिन रेप के मामले सामने आ रहे हैं। महिलाओं की सुरक्षा के लिए सरकार द्वारा बनाई गई दुर्गा वाहिनी शक्ति में डि्यूटी कर रही महिला पुलिसकर्मी खुद अपने मोबाइलों पर बिजी रहती हैं।

उन्होंने जेजेपी का किसी दल के गठबंधन के बारे में पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए कहा की गठबंधन तभी होना चाहिए जब विचार मिलते हों, क्योंकि बिना विचार मिले हुए गठबंधन जब टूटते हैं, तो काफी नुक्सान होता है।

नैना चौटाला ने कहा की केंद्र सरकार ने उज्जवला योजना के तहत गैस सिलेंडर तो दिए, मगर आम जन अब दुबारा सिलेंडर नहीं भरवा पा रहे हैं। सरकार को चाहिए कि सिलेंडर भरवाने की रकम भी उनके खातों में डालें। नैना ने भाजपा सरकार की बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना को भी निशाने पर लिया और कहा की प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था चौपट है। बारहवीं के बाद लड़कियों को अच्छे कोर्स इसलिए नहीं कराए जा रहे क्योंकि उनकी फीस अधिक है।

उनकी सरकार बनने पर डाक्टर व इंजीनियर जैसी पढ़ाई में लड़कियाें की फीस आधी की जाएगी। महिला की शिक्षा व सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। उन्होंंने कहा की आने वाला वक्त बदलाव चाहता है और जेजेपी सबसे बड़ा विकल्प है। जेजेपी की महिला एक महिला कार्यकर्ता दस और महिला को साथ जोड़े।

नैना चौटाला ने कहा की जेजेपी सरकार बनने पर बुजुर्गों की पेंशन को बढ़ाकर 3000 रुपए किया जाएगा और किसान व मजदूर का कर्ज माफ किया जाएगा। उन्होंने कहा की कार्यकर्ता को चप्पल पहनकर पार्टी के प्रचार में लग जाना चाहिए और मतदान के दिन भी चप्पल पहनकर ज्यादा से ज्यादा मतदान करना और कराना चाहिए। उन्होंने कहा की महिलाओं के समर्थन से वे हरी चुनरी चौपाल कार्यक्रम काे कर पाई हैं और अगर उनका अच्छा समय आया, तो वे महिलाओं की वकील बनकर उनकी बातें उठाएंगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *