Home Breaking अन्याय अत्याचार और शोषण के खिलाफ जींद की आवाज बनेगा दिग्विजय- नैना चौटाला

अन्याय अत्याचार और शोषण के खिलाफ जींद की आवाज बनेगा दिग्विजय- नैना चौटाला

0
0Shares

Yuva Haryana,

Jind, 19 Jan,2019

जींद का यह उपचुनाव कोई छोटा मोटा चुनाव नहीं है। यह हरियाणा के एक अलग राज्य के गठन के पश्चात पिछले 52 वर्षों से चले आ रहे अन्याय, अत्याचार और शोषण के खिलाफ लड़ी जाने वाली एक ऐसी लड़ाई है जो जींद की दशा एवं दिशा सुधारने में अपनी अहम भूमिका निभाने का कार्य करेगी।

यह एक ऐसा चुनाव है जिस पर न केवल पूरे प्रदेश की बल्कि संपूर्ण देश की भी निगाहें लगी हुयी हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से लेकर कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी तक इस चुनाव में केवल इस लिए विशेष रुचि ले रहे हैं कि उन्हें भय है कि जींद के इस उपचुनाव में जननायक जनता पार्टी के जीतने के पश्चात आगामी चुनावों में उनकी पार्टी का बंटाधार न हो जाए।

जींद का यह चुनाव केवल एक एमएलए का चुनाव नहीं है यह प्रदेश में होने जा रहे सत्ता परिवर्तन का आगाज है। आप इस चुनाव में दिग्विजय को विजयी बना कर केवल जींद के विकास के लिए एक मजबूत आवाज बुलंद करने का काम ही नहीं करोगे बल्कि आप प्रदेश में सत्ता परिवर्तन की नींव रखोगे। जींद के साथ किए जा रहे अन्याय को समाप्त करने की दिशा में एक ठोस कदम उठाने का कार्य करोगे। उक्त बातें  नैना चौटाला ने उस समय कहीं जब वे जींद के गांव रायचन्दवाला में एकत्रित महिलाओं को संबोधित कर रही थीं।

नैना चौटाला ने कहा कि अभी आप की जननायक जनता पार्टी के गठन को ज्यादा दिन नहीं हुए हैं। लेकिन पांडु पिंडारा की धरती पर हुई रैली के दौरान आप लोगों की विशाल एवं अभूतपूर्व उपस्थिति ने सारे राजनैतिक दलों के मन में एक भय उत्पन्न कर के रख दिया है। इन राजनैतिक दलों को यह डर सता रहा है कि ये इतने कम समय में जब हमसे इतने आगे निकल गए हैं तो यदि हमने उनका रास्ता नहीं रोका तो ये  हमसे इतने आगे निकल जाएंगे कि अगली बार से हम लोकतंत्र की इस दौड़ में शामिल होने लायक भी नहीं रह जाएंगे।

यही कारण है कि प्रदेश में दुष्यंत और दिग्विजय की दिन प्रतिदिन बढ़ती लोकप्रियता देख कर सभी राजनैतिक दल मिल कर इनके खिलाफ साजिश रचने का काम कर रहे हैं। नरेन्द्र मोदी ने मुख्यमंत्री खट्टर को यह आदेश दे रखा है कि चाहे जो कुछ भी करो लेकिन जींद के इस उपचुनाव में किसी तरह से दिग्विजय और दुष्यंत को रोकने का काम करो। यही कारण है कि आज से पहले जींद की तरफ भूल कर भी न देखने वाले मुख्यमंत्री मनोहर लाल चंडीगढ़ छोड़-कर अपना पूरा ताम-झाम लेकर जींद में डटे हुए हैं। केवल मुख्यमंत्री मनोहर लाल ही नहीं बल्कि पूरी की पूरी सरकार ही यहां दिग्विजय को हराने के लिए अपनी ताकत लगाने का काम कर रही है।

यही हाल कांग्रेस का है। राहुल गांधी ने भी अपने एक ऐसे व्यक्ति जिसे उन्होंने नरेन्द्र मोदी के खिलाफ लड़ाई लडऩे के लिए दिल्ली में रखा हुआ था, उसे दिग्विजय से लडऩे के लिए जींद भेज दिया है। वे सोचते हैं कि नरेन्द्र मोदी से तो बाद में भी लड़ लेंगे लेकिन यदि इस चुनाव में दिग्विजय जीत गया तो फिर हम इनसे कभी भी नहीं जीत पाएंगे। लेकिन दुष्यंत और दिग्विजय के प्रति आप लोगों के प्यार को देख कर मुझे इस बात का पूरा विश्वास है कि उनकी कोई भी साजिश कामयाब नहीं होने वाली है।

उन्होंने कहा कि मै आप को इस बात का विश्वास दिलवाती हूं कि दिग्विजय आप के साथ 52 वर्षों से किए जा रहे अन्याय और अत्याचार को समाप्त करने सहित आप को आप का हक दिलवाने हेतु अपनी पूरी ताकत लगा देगा। जब दिग्विजय किसी काम को ठान लेता है तो वह उसे पूरा कर के ही दम लेता है। मै ये बात केवल उसकी मां होने के नाते नहीं कह रही हूं। आप लोगों ने देखा होगा कि जब दिग्विजय ने छात्रों के हितों को लेकर छात्रसंघ बहाली को लेकर जो आंदोलन किया तो उसने प्रदेश के कॉलेजों और विश्वविद्यालयों के छात्रों को उनका हक दिलवा कर ही दम लिया। इसी तरह वह जींद को भी उसका हक दिलवा कर ही दम लेगा।

कप प्लेट गाएं, कप प्लेट गुनगुनाएं

नैना चौटाला ने कहा कि जींद के इस उपचुनाव में आप के प्यार एवं आर्शीवाद की बदौलत दिग्विजय भारी बहुमत से विजयी होने जा रहा है। लेकिन हमें एक बात का ध्यान रखना है। हमारी पार्टी नयी बनी है। और हमें कप प्लेट का जो चुनाव निशान मिला है उससे हमारे बड़े बुजूर्ग और हमारी माताएं अभी अच्छी तरह से परिचित नहीं हैं। दुष्यंत और दिग्विजय तो उनके दिल में बसे हुए हैं। लेकिन चुनाव निशान नया है। इस लिए कहीं कोई गलती न हो जाए। मै अपने सभी बेटों और बेटियों से यह अनुरोध करुंगी कि वे अपने घर में बड़े बुजूर्गों को अपने चुनाव निशान कप प्लेट के बारे में प्रतिदिन बारंबार याद दिलाते रहें। मै तो यह कहूंगी कि जिस प्रकार से हमारे घरों में महिलाएं काम का बोझ कम करने के लिए काम करते समय गाती और गुनगुनाती रहती हैं। उसी तरह वे आज से हर काम करते समय कप प्लेट-कप प्लेट ही गाएं और गुनगुनाएं। कप प्लेट कप प्लेट गाएं, कप प्लेट गुनगुनाएं और कप प्लेट का बटन दबाएं।

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

‘सरकार धरातल पर कोई काम करने की बजाए नए-नए जुमले गढ़ने में लगी है’- हुड्डा

Yuva Haryana, Chndigarh पूर्व मुख्&#…