क्या वोटर लिस्ट में है आपका नाम, देखिये एक क्लिक में –

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Shweta Kushwaha, Yuva Haryana

Chandigarh, 4 May, 2019

हरियाणा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी राजीव रंजन ने कहा कि हरियाणा में 12 मई को होने वाले लोकसभा आम चुनाव 2019 के दौरान हरियाणा के मतदाताओं की सुविधा के लिए पहली बार http://ceoharyana.nic.in पर ‘वोटर सर्च इंजन’ बनाया गया है। इसके माध्यम से वोटर को अपने वोट की जानकारी त्वरित गति व आसानी से प्राप्त होगी।

इस लिंक से आप सीधा देख सकते हैं-

http://ceoharyana.nic.in/index.php?module=searchvoter&process=voters

उन्होंने बताया कि पहले अगर किसी वोटर को अपना वोट चैक करना होता था तो उसको  http://ceoharyana.nic.in वैबसाइट से सबसे पहले वोटर लिस्ट की पीडीएफ फाइल को डाऊनलोड करना पड़ता था और उसके बाद अपना नाम को ढूंढऩा पड़ता था। इसमें भी कई बार शिकायत प्राप्त होती थी कि उनका नाम मिल नहीं रहा जबकि उनका नाम वोटर लिस्ट में होता था। इसलिए मतदाताओं की सुविधा के लिए इस बार वैबसाइट पर वोटर सर्च इंजन लगा दिया गया है।

इसकी सहायता से वोटर अपना एपिक नंबर डाल कर बड़ी आसानी से अपना वोट चैक कर सकते हैं। यदि कोई अपना एपिक नंबर भूल गया है तो भी वह अपना नाम व पिता/पति आदि का नाम भरकर सर्च इंजन के माध्यम से अपना वोट चैक कर सकता हैं। उन्होंने बताया कि वैबसाइट पर पोलिंग स्टेशन की मतदाता सूची भी अपलोड है, उसे डाउनलोड करके भी कोई व्यक्ति अपना नाम चैक कर सकता है।

उन्होंने बताया कि लोकसभा क्षेत्र और विधानसभा क्षेत्र के अनुसार वोटर लिस्ट वैबसाइट पर उपलब्ध है। वोटर लिस्ट 3 से 4 हिस्सों में होती है, जिसमें सबसे पहले मेन रॉल, उसके बाद पहली, दूसरी और तीसरी सप्लीमेंट्री लिस्ट शामिल है। इसलिए मतदाताओं को अपना नाम ढूंढने के लिए सभी हिस्सों को देखना अनिवार्य है। उन्होंने बताया कि यदि किसी व्यक्ति ने अपना वोट सितंबर 2018 के बाद बनवाया है तो उसे अपना नाम सप्लीमेंट्री लिस्ट में ही मिलेगा।

रंजन ने बताया कि अगर किसी को अधिकारिक फोटो वोटर स्लिप की कॉपी प्राप्त हो चुकी है, तो उसे अपना नाम मतदाता सूची में ढूंढने की आवश्यकता नहीं है। उन्हें बस अपने एपिक या 11 वैकल्पिक फोटो पहचान दस्तावेजों में से किसी एक को दिखा कर वोट डालना है। 11 वैकल्पिक फोटो पहचान दस्तावेजों में पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, केंद्रीय, राज्य सरकार, सार्वजनिक उपक्रमों या सार्वजनिक लिमिटेड कंपनियों द्वारा कर्मचारियों को जारी किए गए फोटोग्राफ के साथ सेवा पहचान पत्र, बैंक या डाकघर द्वारा जारी किए गए फोटोग्राफ के साथ पासबुक, पैन कार्ड, एनपीआर के तहत आरजीआई द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, श्रम मंत्रालय की योजना के तहत जारी स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, फोटोग्राफ के साथ पेंशन दस्तावेज, सांसदों, विधायकों /एमएलसी को जारी किए गए आधिकारिक पहचान पत्र और आधार कार्ड शामिल हैं।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *