चमत्कार या अंधविश्वास, करनाल के एक मंदिर में नंदी की मूर्ती पी रही है दूध….

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सोशल-वायरल हरियाणा हरियाणा विशेष

Kamarjeet Virk, Yuva Haryana

Karnal, 27 July, 2019

करनाल से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे कहने को अंधविशवाश हो सकता है, लेकिन जिन्होंने अपनी आंखों से देखा उनके लिए यह किसी चमत्कार से कम नहीं।

अगर एक पत्थर की मूर्ति दूध पी रही हो, तो आपके दिमाग में भी लाखों सवाल घुमेंगे, लेकिन वहीं अगर यह मूर्ति भगवान शिव शंकर के वाहन नंदी की हों तो आप इसे भगवान का चमत्कार कहेंगे। करनाल में ऐसा वाक्य पेश आया जिसने देखा उसके लिए चमत्कार जिसने ना देखा उसके लिए अंधविश्वाश। कहने को तो हो सकता है आंखों का धोखा भी हो, लेकिन नंदी की छोटी सी मूर्ति को दूध पीला रहे यह लोग इसे भगवान का चमत्कार कह रहे हैं।

इसे देखने के लिए आस पास की कॉलानियों के लोग भी पहुंच गए। ज्योति नगर गली नंबर एक स्थित हनुमान मंदिर पर भक्तों का तांता लगा हुआ है। इस मंदिर में नंदी भगवान की मूर्ति दूध पी रही है, ऐसा लोगों का मानना है। लोगों को इसके बारे में जब पता लगा, तो वह कोहली- चम्मच में दूध लेकर पहुंच गए।

मन्दिर में नंदी भगवान को दूध पिलाने बारी- बारी लोग चम्मच से दूध पिला रहे हैं और नंदी महाराज दूध पी रहे हैं। शहर में यह खबर तेजी से फैल रही है। मन्दिर की पुजारन की माने तो उसका कहना है की मुझे सपना आया था। सवेरे मैंने पूजा की और कहा बाबा मेरा बेटा विदेश जानो चाहो कुछ कीजिए, उसके बाद काम काज में लग गयी, जिसके बाद मेरी पड़ोसन ने आकर नंदी महाराज को पानी पिलाया उसके बाद उसने मुझे बताया और मैंने आकर कपड़ा लगाया, लेकिन वह गिला नहीं हुआ।

फिर उसके बाद एक कोली दूध नंदी महाराज ने पीया फिर लोगों का आना शुरू हो गया। हम तो इसे भगवान का चमत्कार कहते हैं। भगवान ने दर्शन दिए हैं, खुद आकर पीछले लम्बे समय से मन्दिर खराब व्यस्व्था में था कभी धर्मशाला तो कभी क्या बनाने की बात हो रही थी, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ आज सावन के महीने में यह सब होना चमत्कार है।

वहीं अपने हाथ से चम्मच से दूध पिला रहे यह लोग इसे अन्धविश्वाश नहीं चमत्कार का नाम दे रहे हैं। उन्हें भरोसा है नंदी भगवान यह दूध पी रहे हैं। इन लोगों का कहना है कि 20 साल पुरानी यह नंदी भगवान की मूर्ति यहा हैं और मन्दिर भी पुराना है, लेकिन इसकी व्यवस्था ऐसी ही हैं हमें तो यह पता है यह हमारे लिए चमत्कार है बस।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *