जींद के नरसीराम ने बनाया है बीमार जूतों का अस्पताल, आनंद महिंद्रा हुए इनकी प्रतिभा के कायल

Breaking कला-संस्कृति चर्चा में दुनिया देश बड़ी ख़बरें बिजनेस रोजगार सरकार-प्रशासन हरियाणा

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 1 May, 2018

जींद के पटियाला चौक पर नरसीराम का जख्मी जूतों का अस्पताल है, यहां पर लगा बोर्ड हर राहगीर का ध्यान अपनी तरफ खींचता है, लेकिन नरसीराम के जख्मी जूतों के अस्पताल ने तो आनंद महिंद्रा का ध्यान ही अपनी और खींच लिया।

दरअसल नरसीराम बूट पॉलिश का काम करते हैं, उनके पास टूटे हुए जूतों, चप्पलों की मरम्मत का काम है, इसके लिए उनके पास जो पैटी रखी हुई है, उसका नाम भी उन्होने सर्जन बॉक्स रखा है।

महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने जब सोशल मीडिया पर नरसीराम के अस्पताल की फोटो देखी तो उनसे भी नहीं रहा गया, उन्होने फटाफट ट्वीट कर डाला।

आनंद महिंद्रा ने अपने ट्वीट में लिखा कि इस व्यक्ति को तो इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट का टीचर होना चाहिए ।

आनंद महिंद्रा ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा है कि उन्हे यह फोटो व्हाट्सएप पर मिली है. यह नहीं जानते की फोटो कहां की और कितनी पुरानी है, लेकिन अगर नरसीराम अभी यह काम कर रहे हैं तो मैं उनके काम के उत्थान के लिए छोटा निवेश करने को तैयार हूं।

व्हाट्सएप पर आनंद महिंद्रा के पास पहुंची इस फोटो ने नरसीराम की किस्मत बदल दी है।

आनंद महिंद्रा ने सिर्फ ट्वीट ही नहीं किया बल्कि अपनी टीम को हरियाणा के अलग-अलग हिस्सों में इस शख्स को ढूंढने में भी लगा दिया, तब जाकर नरसीराम जींद के पटियाला चौक पर अपने जूतों के अस्तपाल में बैठे मिले।

इसके बाद तो आनंद महिद्रा ने नरसीराम से उनकी ख्वाहिश पूछी तो नरसीराम ने भी सिर्फ थोड़ी सी अच्छी जगह की मांग कर डाली। अब आनंद महिंद्रा ने अपने मुंबई स्टूडियो से ऐसी चलती फिरती दुकान बनाने के ऑर्डर दिये हैं जो नरसीराम के जूते के अस्पताल को और आगे लेकर जा सके।

 

Read This News Also >>>>देश का पहला राज्य है हरियाणा, जहां आयुष्मान योजना होगी शुरू, गरीब को नहीं पड़ेगी कर्ज लेने की जरूरत- अनिल विज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *