सांसद दुष्यंत चौटाला ने स्वास्थ्य विभाग के बाद अब नेशनल हैल्थ मिशन (NHM) में लगाया घोटाले का आरोप

Breaking Uncategorized चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा

Yuva haryana

Hisar (31 March 2018)

इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला लगातार हरियाणा स्वास्थ्य विभाग में एक के बाद एक कई घोटालो की परतें खोल रहे हैं। दवा खरीद घोटाले के बाद अब उन्होंने नेशनल हैल्थ मिशन यानी NHM  में बड़े घोटाले के आरोप लगाए है।

सांसद चौटाला ने पूरे सबूतों के साथ प्रैस कांफ्रेंस कर स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को भी लपेटे में लिया है। विज पर इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने आरोप लगाया कि उन्होंने ऐसे व्यक्ति की नियुक्ति पत्र पर हस्ताक्षर किया जो इस पद के लिए बिल्कुल भी योग्य नहीं था। यदि विज साहब इस तरह के लोगों को नियुक्त करते हैं तो उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

बता दें कि अरुण पराशर को फार्मास्टिकल कमीशन का रजिस्ट्रार नियुक्त किया गया था। उनके नियुक्ति पत्र पर अनिल विज के हस्ताक्षर है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पराशर ने 12वीं भी ऐसे बोर्ड से की है जिनका उन्होंने आज तक नाम नहीं सुना है। पराशर की फार्मास्टिकल की डिग्री भी कोर्ट में सवालों के घेरे में हैं। इसके बाद भी उनकी कई बार नियुक्ति की जाती है।

चौटाला ने कहा कि अरुण पराशर का आज कार्यकाल खत्म हो रहा है। लेकिन सरकार 1 या 2 अप्रैल तक उनको फिर से नियुक्त कर सकती है।

वहीं चौटाला ने अनिल विज से पूछा है कि उन्होंने ऐसे व्यक्ति की नियुक्ति कैसे की है जो अपने पद से लिए योग्य भी नहीं था। सरकार को ऐसे लोगों को पद से हटाकर सीबीआई जांच करवानी चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि विज साहब सरकार के कहने पर इस प्रकार की नियुक्ति करने के लिए बाध्य हैं तो उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *