माउंट एवरेस्ट पर फतह कर नवदीप लौटा गांव, सुभाष बराला ने किया सम्मानित

Breaking बड़ी ख़बरें युवा हरियाणा हरियाणा के खिलाड़ी

Ajay Mehta, Yuva Haryana

Fatehabad

कहते हैं हौंसलो से उड़ान होती है। ऐसा ही कुछ कारनामा कर दिखाया है कि टोहाना के किसान परिवार में जन्में नवदीप बाजिया ने। बेटे का सपना था कि वो दुनिया की सबसे ऊंची चोटी फतेह करे औऱ उसने कर के भी दिखाया। नवदीप बाजिया ने 8 अप्रैल को नेपाल से इस अभियान की शुरुआत की जो एक महीने 13 दिन की चढ़ाई के बाद अपने सपने यानि एवरेस्ट को फतह कर लिया।

अपने बेटे के इस सपने को पूरा करने के लिए पिता ने कर्ज लिया हुआ था। किसान परिवार ने अपने बेटे को माउंट एवरेस्ट पर फतेह करवाने के लिए 15 लाख का कर्ज उठाया है। नवदीप जैसे ही गांव पहुंचे उम्मीद के मुताबिक वहां गांव के लोगों से लेकर सरकार, सरकार से लेकर प्रशासन तक उनके स्वागत में खड़ा था।

नवदीप को भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष और टोहाना से विधायक सुभाष बराला सम्मानित किया।

बता दें कि नवदीप इससे पहले भी एवरेस्ट को फतह करने की कोशिश कर चुका है मगर बर्फीले तूफान की वजह से 8  हजार मीटर से वापस लौटना पड़ा था। लेकिन दुसरी बार में बेटे ने पिता के कर्ज लिए पैसे का मोल चुकाते हुए माउंट एवरेस्ट पर तिरंगा फहरा ही दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *