गुरुग्राम के मैडिसिटी हॉस्पिटल पर लगे मरीज के इलाज में लापरवाही के आरोप, एक के बाद एक बीमारी बताकर बनाया 28 लाख का बिल

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Manu Mehta, Yuva Haryana

Gurugram, 29 Sep, 2018

गुरुग्राम के अस्पताल पर एक बार फिर इलाज के नाम पर लाखों रुपये एंठने का आरोप लगा है। वहीं मरीज के परिजनों ने तो अस्पताल पर इलाज के दौरान लापरवाही बरते का भी आरोप लगाया है। स्वास्थ्य मंत्री और सीएम विंडो पर शिकायत करने के बाद भी अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है और मरीज की तबीयत पहले से ज्यादा बिगड़ गई है।

दरअसल, सीने में दर्द की शिकायत होने पर 62 साल के एक व्यक्ति को गुरूग्राम के मैडीसिटी हॉस्पिटल में दाखिल करवाया गया था, जहां उनकी हालत सुधरने की बजाए और बिगड़ गई। आरोप है  कि वह अब न तो चलपाने की स्थिती में हैं और न ही बोलने की। पीड़ित परिवार ने इसकी शिकायत हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री से लेकर मुख्यमंत्री तक से की, लेकिन इंसाफ नहीं मिला।

दिल्ली के चन्द्र भान सैनी को सीने में दर्द की शिकायत होने पर 2 अगस्त को गुरूग्राम के मैडीसीटी हास्पिटल में दाखिल करवाया गया था। परिवार के अनुसार अस्पताल ने 6 लाख 35 हजार रुपये का बिल बनाया था। जिसके बाद चन्द्र भान का ऑपरेशन हो गया था ,लेकिन दो दिन बाद अस्पताल द्वारा उन्हें एक नई बिमारी होने की बात कहकर पैसे जमा करवाने के लिए बोला गया।

इस पर परिवार ने पैसा जमा करवा दिया। आरोप है कि अस्पताल प्रबंधन चन्द्र भान को एक के बाद एक नई बीमारी बता कर पैसे ऐठ रहे हैं, जबकि उनकी स्थिती में कोई सुधार नहीं हो रहा है। वहीं उसके बाद हर रोज बिल बढ़ाते गए, जो अब करीब 28 लाख रुपए का बना दिया गया है।

मरीज की स्थिति में सुधार न होने पर जब चन्द्र भान के बैटे अमित ने डाक्टरों से बात की, तो डाक्टरों ने कहा कि इलाज के दौरान ऐसा होता रहता है। जब अमित ने अपने पिता को देखने की बात कही, तो डाक्टरों ने मना कर दिया। जब अमित ने जीद की तो चन्द्र भान की पत्नी को मिलने की इजाजत दी गई।

अमित की माने तो जब उनकी मां आईसीयू में पिता को मिलने के लिए पहुंची, तो उनकी कमर पर घाव पाया। जब डाक्टरों से इस बारे में पूछा गया, तो कोई संतोषजनक जबाव नहीं मिला। अमित का आरोप है कि अस्पताल के डाक्टर लगता उन पर मरीज को डिसचार्ज करवाने का दबाव डाल रहे हैं, जबकि उसके पिता की हालत पहले से भी बदतर हो गई है।

पिता की हालत को देखकर अमित ने हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री से लेकर मुख्य मंत्री तक नयाय की गुहार लगाई है। लेकिन समाधान नहीं हो सका है। अमित की माने तो चन्द्रभान के इलाज में डाक्टरों ने लापरवाही बरती है। जिसका खामियाजा उसके पिता को भुगतना पड़ रहा है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *