जिस भतीजे को बुआ ने पढ़ा-लिखाकर हवलदार बनाया, उसी ने घर पर कब्जा करने के लिए उतारा मौत के घाट

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Shweta Kushwaha, Yuva Haryana

Panipat, 22 Nov, 2018

आज के समय में लोगों के लिए रिश्तों का शायद कोई महत्तव नहीं है। किसी को कुछ चाहिए तो वह है पैसा और प्रॉपर्टी। ऐसा ही पानीपत से एक मामला सामने आया है, जहां पिता की मौत के बाद एक युवक को उसकी बुआ ने सहारा दिया, उसे पाला-पोसा और हवलदार की कुर्सी तक पहुंचाया, लेकिन आखिर में इस भतीजे ने प्रॉपर्टी के लिए बुआ को बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया।

दरअसल, पानीपत टोल प्लाजा के समीप बने बुआ के मकान पर भतीजे ने कब्जा करने की सोची, लेकिन जब बुआ ने विरोध जताया तो उसने बुआ की छाती में लात मार दी। जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई।

मृतिका बुआ के बेटे मयंक ने बताया कि उनका टीडीआई में एक मकान है, जिसमें आरोपी हवलदार सतबीर चार साल से रहता था और वह यमुनानगर बतौर ड्यूटी पर तैनात है। वह लोग सतबीर को घर खाली करने को कहते थे, लेकिन वह नहीं कर रहा था और इसी बात को लेकर हमेशा झगड़ा होता था।

उसने बताया कि गत सोमवार को सतबीर से जबरदस्ती घर खाली करवाया था। वारदात वाले दिन मयंक अपनी मां के साथ टोल टैक्स के पास एक कार शोरूम के बाहर खड़ा था। वह गाड़ी के अंदर बैठा था और मां बाहर खड़ी थी कि अचानक सतबीर वहां आ गया और मयंक पर जानलेवा हमला करने लगा। बीच-बचाव में मां आई, तो उन्हें भी सतबीर पीटने लगा।

इसी दौरान आरोपी सतबीर ने अपनी बुआ की छाती में लात मार दी। जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। वारदात को अंजाम देने के बाद सतबीर मौके से फरार हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *