हरियाणा के नए डीजीपी मनोज यादव ने संभाला कार्यभार,16 साल बाद लौटे हरियाणा कैडर

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Umang Sheoran, Yuva Haryana

Panchkula, 21 Feb, 2019

हरियाणा कैडर के सीनियर IPS अधिकारी मनोज यादव हरियाणा राज्य के नए पुलिस महानिदेशक (DGP) बने हैं। पंचकूला स्थित हरियाणा पुलिस मुख्यालय में हरियाणा के नए पुलिस महानिदेशक मनोज यादव ने अपना संभाला कार्यभार संभाल लिया है।

पूर्व DGP बीएस संधू का कार्यकाल 31 जनवरी को पूरा होने से DGP का पद खाली चल रहा था, लेकिन DGP के नाम पर विवाद के चलते राज्य सरकार ने नई नियुक्ति होने तक डॉ. केपी सिंह को कार्यवाहक DGP का दायित्व सौंप रखा था।

बता दें कि यादव करीब 16 साल के लंबे अंतराल के बाद अपने कैडर हरियाणा में वापस लौट रहे हैं। मूलरूप से उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में रहने वाले यादव की गिनती मिलनसार और स्टेट फारवर्ड अफसरों में होती है।

उन्होंने DGP पद की दौड़ में शामिल नौ सीनियर IPS अधिकारियों को पछाड़ते हुए नया मुकाम हासिल किया है। मनोज यादव हाल फिलहाल केंद्रीय गृह मंत्रालय (एमएचए) में इंटेलीजेंस ब्यूरो के ज्वाइंट डायरेक्टर पद पर कार्यरत हैं। यादव वर्ष 2003 में डेपुटेशन पर इस विभाग में दिल्ली चले गए थे।

मनोज यादव वर्ष 1988 बैच के IPS अधिकारी हैं और उनकी रिटायरमेंट 31 जुलाई 2025 को है। उनके बेटे का 2018 में आइएएस के पद पर चयन हुआ था। उसे असम कैडर मिला है।

सूत्रों के अनुसार दिल्ली में इंटेलीजेंस ब्यूरो में काम करते हुए मनोज यादव की आरएसएस के वरिष्ठ नेताओं के साथ नजदीकियां बढ़ीं। इसी का फायदा उन्हें DGP के पद पर नियुक्ति के रूप में मिला है।

मनोज यादव गैरविवादित अफसर हैं। चंडीगढ़ में एसपी ट्रैफिक और एसपी सुरक्षा के पद पर रहने के बाद उन्होंने हरियाणा के कई जिलों में एसपी के पद पर कार्य किया है।

पंचकूला में हुई प्रैसवार्ता के दौरान यादव ने कहा कि  लोक सभा चुनाव भी सर पर है हमारा प्रयास रहेगा कि चुनाव निपक्ष हो और हरियाणा पुलिस इस पर बेहतर काम करे।।उन्होंने कहा कि 16 बरस पहले डेपूटेशन में इंटेलिजेंस में गया था, आज वापिस लौटा हूं और वापिस लौटने की बहुत खुशी हो रही है।

यहां के लोग कर्मठ है कर्म में विश्वास रखते थे। हरियाणा पुलिस की कार्यशैली भी कुछ इसी तरह है। उन्होंने कहा कि हरियाणा मेरा घर है। मैं कभी इससे अन -टच नहीं रहा। मुझे खुशी है कि जहां से मैं 16 साल पहले डेपुटेशन पर गया था, वही अब नियुक्ति की गई है। मुझे हरियाणा पुलिस पर गर्व है।

उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था को बनाए रखना, बेहतर और पुख्ता जां , कमज़ोर वर्ग का उभार हमारी प्राथमिकता रहेगी । मैं हरियाणा सरकार का आभारी हूं जिन्होंने मुझे इस काबिल समझा ।

जब हमने नौकरी जॉइन की, तो यहां पंजाब के आतंकवाद का साया था और बलिदान भी दिये। उस समय हमारे 4 पुलिस कर्मी शहीद हुए। मेरा प्रयास रहेगा की जन सेवा और जन कल्याण में योगदान दें और नागरिकों को साथ रखकर काम करें । कमजोर तबके के लोंगो और महिलाओं के प्रति बढ़ रहे अपराधों पर प्रभावी ढंग से काम करें ।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *