मनचलों को सुधारने का नया फॉर्मूला, लड़कियां भी बना लें अपनी गैंग- रॉकी मित्तल

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Pardeep Dhankar, Bahadurgarh

हरियाणा में 1000 लड़कों पर 923 लड़कियां हैं। ये तो सब जानते हैं । लेकिन क्या आप जानते हैं कि हरियाणा में हजार लड़कियों पर मनचलों की संख्या कितनी है। नही ना ! हमें भी नही पता था। लेकिन हरियाणा सरकार की नई नवेली पब्लिसिटी सैल के चेयरमैन रॉकी मित्तल को पता है। रॉकी मित्तल ने स्कूली छात्राओं से संवाद करते हुए बताया कि हजार लड़कियों पर 10 मनचले है और पांच हजार लड़कियों को छेड़ने वाले मनचलों की संख्या महज 50 ही है। अब इन मनचलों से छुटकारा पाने का फार्मूला भी रॉकी मित्तल ने बता दिया है। रॉकी ने छात्राओं को कहा कि जो मनचला उन्हे छेड़े , तंग करे उससे उसका नम्बर ले लो और हमे दे दो। गुलाबी गैंग की तरह अपना गैंग बना लो और फिर उसकी जमकर धुनाई कर दो।

एक और सुधार सैल से नई नवेली पब्लिसिटी सैल के चेयरमैन बने रॉकी मित्तल एक बार फिर सुर्खियों में हैं। बहादुरगढ़ के मॉर्डन स्कूल के छात्राओं को सशक्त बनाने आए रॉकी ने हरियाणा में मनचलों की संख्या भी बता दी है। अब से पहले आपको हरियाणा में 1000 लड़कों पर 923 लड़कियां होने की खबर होगी। लेकिन अब रॉकी मित्तल की जुबानी जान लीजिए कि हरियाणा में 1000 लड़कियों को छेड़ने वाले मनचले कितने हैं। रॉकी मित्तल का कहना है कि हजार लड़कियों को छेड़ने वाले सिर्फ 10 मनचले हैं और 5 हजार लड़कियों को छेड़ने वाले मनचलों की संख्या 50 है। इसलिए मनचलों से घबराना नही उन्हे गुलाबी गैंग की तरह गैंग बनाकर सबक सिखाना है। मनचलांे को फोन नम्बर देने की बजाए उनका फोन नम्बर लेने और उन्हे देने की हिदायत भी रॉकी साहब ने दी है ताकि हरियाणा में मनचलों को सबक सिखाया जा सके।

स्कूली छात्राओं को प्रेरित करते करते रॉकी मित्तल साहब हरियाणा के सब लड़कों की बेइज्जती भी करते चले गये। रॉकी ने कहा कि हरियाणा की बेटियां किसी से कम नही है। ओलम्पिक में मैडल ला रही हैं बेटिया। और हरियाणा के लड़के सिर्फ उल्हाना लाने का ही काम कर रहे हैं। रॉकी साहब ये बात ठीक है कि हरियाणा की बेटियां किसी से कम नही है । प़ढ़ाई के साथ सेना और खेलों में भी देश का गौरव बढ़ा रही है लेंकिन क्या हरियाणा के सारे बेटे सिर्फ उल्हाना लाते हैं देश के लिए मैडल लाने और सीमाओं पर जान गंवाने वाले हरियाणा के बेटों को आप भूल गए हैं शायद।

रॉकी मित्तल पब्लिसिटी सैल के चेयरमैन बनने के बाद पहली बार झज्जर जिले के बहादुरगढ़ में मॉर्डन स्कूल की छात्राओं को प्रेरणा देने के लिए आए थे। मनचलों को असुरों की संज्ञा देते हुऐ  सबक सिखाने की शपथ भी रॉकी मित्तल ने दिलवाई।  ये भी कहा कि हरियाणा में अब मनचलों की खैर नही रहेगी। हर वर्ग से विचार विमर्श कर हरियाणा का विकास भी करवाने और उस विकास का जमकर प्रचार करने की बात भी रॉकी मित्तल ने कही है।इसी दौरान सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग ने भी अपने चेयरमैन का स्वागत भी कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *