जनवरी से नए मानक के हेलमेट पहनना होगा जरुरी, पुराने हेलमेट बेचना भी होगा कानूनन जुर्म

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana
Chandigarh, 25 Dec, 2018

ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड (BIS) ने हेलमेट के लिए नए मानक तय किये हैं। नए नियमों के मुताबिक अगले साल से टू-व्हीलर हेलमेट्स और भी हल्के हो जाएंगे। हेलमेट के इन नए नियमों को असुरक्षित और ISI स्टैंडर्ड पर खरे न उतरने वाले हेलमेट्स से लड़ने के लिए बनाया गया है। बता दें कि ISI स्टैंडर्ड पर खरे न उतरने वाले हेलमेट बेचना कानूनन जूर्म भी है।

वर्तमान नियमों के मुताबिक हेलमेट का स्टैंडर्ड वजन 1.5 किलोग्राम सेट किया गया है। लेकिन नए नियमों के मुताबिक अगले साल से हेलमेट 1.2 किलोग्राम के होंगे। ये नए नियम 15 जनवरी 2019 से भारत में लागू हो जाएंगे। इस नए नियम के मुताबिक हेलमेट्स में वायूसंचार के लिए छिद्र या होल देना भी जरूरी होगा, क्योंकि बहुत से लोग सांस फुलने की शिकायत के कारण हेलमेट पहनने से मना कर देते हैं।

ISI हेलमेट मैन्यूफैक्चरर असोसिएशन के प्रेसिडेंट राजीव कपूर ने कहा कि “नए नियमों के मुताबिक सड़क एक्सीडेंट में मारे जा रहे लोगों की इससे सुरक्षा होगी, साथ ही रोड-साइड हेलमेट्स से भी सुरक्षा होगी। ”

ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड के अन्य अधिकारी ने कहा कि “हेलमेट के नए नियम खोपड़ी और चेहरे दोनों की रक्षा करेगी। यही कारण है कि हमने वियतनाम और थाईलैंड में किए गए टोपी जैसी हेलमेट के लिए कोई मानक नहीं दिया है।”

दुपहिया वाहन चालक जहां तेज रफ्तार से वाहन दौड़ते हैं वहीं मोबाइल फोन पर बात करते हुए या इयर फोन लगाकर सफर करते हैं। इससे कई बार हादसे होते हैं। दुपहिया वाहन चलाते समय हेलमेट का प्रयोग नहीं करते हैं, वहीं मोबाइल व इयर फोन का प्रयोग किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *