बैंक से लिखवाकर लाना होगा, नहीं है एटीएम और चेकबुक, तब मिलेगी पेंशन

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Rohtak, 24 Feb, 2019

जिला समाज कल्याण के अधिकारियों के द्वारा नए- नए कानून बताकर बुजुर्गों की पेंशन रोक दी जा रही है। आय प्रमाण पत्र और स्कूल सर्टिफिकेट के चक्कर से बुजुर्ग अभी उभरे ही थे कि अधिकारियों ने पेंशन धारकों को एक ओर नया कानून बना दिया, जिसके तहत पेंशन धारकों को बैंक से एक पत्र लिखवाकर जिला समाज कल्याण में जमा करवाना होगा। जिस पर बैंक द्वारा लिखा होगा कि खाताधारक के पास कोई चेकबुक या एटीएम नहीं है। जिसके बाद ही लाभार्थी की पेंशन चालू की जाएगी।

तीन महीने हुए तो पेंशन बंद

समाज कल्याण विभाग के निर्देश अनुसार पेंशन लेने के लिए लाभार्थी को हर महीने बैंक मे जाना होगा और मैन्युल तरीके से फार्म भरकर ही पेंशन लेनी होगी। इसके लिए एटीएम या चेकबुक का इस्तमाल नहीं किया जा सकता। तीन महीनों से ज्यादा पेंशन इकट्ठा होने पर पेंशन बंद कर दी जाएगी। कुछ बेंको ने पेंशन लाभार्थियों के खाता खोलते समय एटीएम औक चेकबुक बना दिए थे। इनसे पेंशन निकलवाने वाले लाभार्थियों की पेंशन रोक ली गई है

प्रदेश में 26 लाख 37 हजार 477 पेंशन लाभार्थी हैं, जबकि रोहतक में इनकी संख्या 1लाख 17 हजार 930 है। विभाग अधिकारियों ने बताया कि यह नियम नया नहीं बल्कि 2015 का है, जिस समय बैंक में खाते खुलवाए जा रहे थे। लेकिन परिस्थितियों को देखते हुए इन्हें अब लागू किया गया है।

वहीं यह नियम कुछ दिव्यांगो और अत्याधिक बुजुर्ग जिनका गुजारा सिर्फ पेंशन से होता है, उनके लिए मुसीबत बन चुका है। ये लोग एटीएम या चेकबुक द्वारा आसानी से पेंशन निकाल सकते थे। अधिकारी राजेश मलिक ने बताया कि कुछ लोगों की मृत्यु के बाद भी पेंशन चालू रहती थी। अगर हर माह मैन्यूअल तरीके से पेंशन निकाली जाए तो मृतकों की पेंशन बेंक खाते में ही रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *