नीलकंठ आलू से किसान बढ़ा सकेंगे, उत्पादन और क्वालिटी

हरियाणा

Yuva Haryana

Haryana, 29-03-2018

बैंगनी रंग के नीलकंठ आलू की किस्म पर हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय शोध कर रहा है। हरियाणा की जमीन और जलवायु के अनुकूल उत्पादन में बढ़ोतरी के लिए, एक से दो वर्ष के शोध के बाद इसका बीज तैयार कर किसानों को दिया जाएगा। आलू की यह किस्म आमतौर पर लगने वाली बीमारी लेट ब्लाइट की प्रतिरोधक किस्म है।

साधारण आलू के बजाय इसमें कई गुना एंटीऑक्सीडेंट है, जो स्वास्थ्य के लिए अधिक लाभदायक रहेगा। इस किस्म के 120 से 125 क्विंटल प्रति एकड़ से अधिक उत्पादन देने की उम्मीद है। आलू की इस किस्म को हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय में लगे कृषि मेले में प्रदर्शित किया गया था।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *