आखिरकार ट्यूमर के इलाज के लिए जूंझ रही पीड़िता का हुआ इलाज

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Haryana 23, Jan 2019

पिछले दो दिनों से संज्ञान में आई निर्भया (परिवर्तित नाम) लगातार डेढ़ माह से बिना इलाज के घर पर ही तड़प रही थी। कुछ वर्ष पूर्व माता-पिता व जवान भाई की मौत होने के कारण उसकी बड़ी बहन उसे हस्पताल में दाखिल नहीं करवा पा रही थी।

बता दें कि हस्पतालों के धक्के खा-खाकर निर्भया टूट चुकी थी। उसके पैर में ट्यूमर था, और ट्यूमर भी फूट चुका था और बुरी तरह से सड़ रहा था।

17 वर्षीय कैंसर पीड़ित लड़की, जो कि आर्थिक तंगी के कारण जिंदगी और मौत से जूँझ रही थी, उसकी मदद करने को आए अनेकों संस्थाओं के लोग और ब्रह्मशक्ति संजीवनी हस्पताल ने अपना हाथ आगे बढाया है।

संजीवनी हस्पताल से डॉ मनीष शर्मा ने बताया कि  इनका आपरेशन डॉ अमित गुप्ता द्वारा सफलतापूर्वक कर दिया गया है। मगर कैंसर को बाकी शरीर में फेलने से बचाने के लिए पीड़िता का पैर काट दिया गया है और कुछ ही दिनों में इनको छुट्टी दे दी जाएगी। 15-20 दिन में जख्म भर जाने पर आगे पीईटी स्केन आदि टेस्ट करवाए जाएंगे।

पिछले 5 दिनों से सोशल मीडिया के जरिये ये खबर सुर्खियों में है और इन दिनों शहर व आसपास के गाँवों से लोग निर्भया  का हालचाल जानने के लिए आ रहे हैं और फोन के माध्यम से सैकड़ों युवाओं ने आर्थिक व शारीरिक मदद का हाथ आगे बढ़ाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *