जन समस्याओं का हल नहीं होने तक चैन से नहीं बैठेगी जेजेपी- सरदार निशान सिंह

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Chandigarh, 19 July, 2019

जनहित के मुद्दों पर भाजपा सरकार की पोल खोलते हुए आज जननायक जनता पार्टी ने यमुनानगर और हिसार जिले में जोरदार विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान हजारों की संख्या में जेजेपी कार्यकर्ताओं ने प्रदेश के तमाम वर्गों से जुड़ी कई बड़ी जन समस्याओं को सरकार के सामने रखते हुए उनके जल्द समाधान की मांग की।

यमुनागर में प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे जेजेपी के प्रदेशाध्यक्ष सरदार निशान सिंह ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि जन समस्याओं का हल नहीं होने तक जेजेपी चैन से नहीं बैठेगी। उन्होंने बताया कि जन विरोधी भाजपा सरकार के खिलाफ जेजेपी का हल्ला बोल जारी रहेगा और अब 23 जुलाई को फरीदाबाद जिले में जननायक जनता पार्टी इस घमंडी भाजपा सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेगी। वहीं हिसार में प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे जजपा के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव डॉ. केसी बांगड़ ने कहा कि अब भाजपा सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो गई है क्योंकि जेजेपी आमजन की आवाज बनकर प्रदेशभर में जनहित के मुद्दों को उठा रही है।

हिसार और यमुनानगर जिले में जननायक जनता पार्टी ने प्रदेश में बढ़ती बेरोजगारी, बिगड़ी कानून व्यवस्था, महिला विरूद्ध अपराध, अवैध खनन, बिजली-पानी की समस्या, पुरानी पेंशन स्कीम की बहाली, कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने, किसानों की दूर्दशा सहित कई मुद्दों को लेकर भाजपा सरकार के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया और जिला प्रशासन के माध्यम से प्रदेश के राज्यपाल व मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा।

जेजेपी के हजारों कार्यकर्ता नगर के बीचों-बीच प्रदेश सरकार के विरूद्ध नारेबाजी करते हुए लघु सचिवालय पहुंचे। जेजेपी कार्यकर्ता मनोहर लाल खट्टर सरकार द्वारा जन समस्याओं की अनदेखी के विरोध में रोष व्यक्त कर रहे थे।

सरकार की पनाह से खनन माफियाओं और गुंडों का बोलबाला, सीबीआई जांच हो – सरदार निशान सिंह

जेजेपी प्रदेशाध्यक्ष सरदार निशान ने अवैध खनन का मुद्दा उठाते हुए कहा कि आज जेजेपी द्वारा यहां सरकार की पनाह से चल रहे अवैध खनन समेत कई जन समस्याओं को लेकर कड़ा विरोध जताया है। आज भाजपा राज में यहां खनन माफिया और गुंडों का बोलबोला है, जिसकी वजह से जिले वासियों का जीना दूभर हो चुका है।

यमुनानगर जिले में सरेआम सरकार की पनाह से अवैध खनन हो रहा है जिसकी सीबीआई जांच होनी चाहिए। निशान सिंह ने कहा कि गत दिन पहले ही खुद प्रदेश के मुखिया मनोहर लाल यमुनानगर से पंचकूला जाते वक्त खनन माफिया के ट्रकों के बीच फंस गए थे, लेकिन उसके बावजूद भी मुख्यमंत्री कोई कार्रवाई करने की बजाय चुप्पी साधे बैठे है।

वहीं निशान सिंह ने कहा कि दादूपुर-नलवी नहर को सरकार की ओर से बंद का निर्णय किसानों के लिए बहुत बड़ा नुकसानदायक कदम हैं। उन्होंने कहा कि इस नहर से यमुनानगर के साथ-साथ अंबाला, कुरुक्षेत्र के कई गांवों में जल पूर्ति होनी थी लेकिन अब जल संकट का खतरा मंडरा रहा है, जिस कारण हजारों एकड़ जमीन बंजर हो जाएगी, जिसका सीधा असर किसानों की आर्थिक स्थिति पर पड़ेगा। उन्होंने ये भी बताया कि यमुनानगर का एरिया डार्कजोन घोषित हो चुका है, जिसके चलते किसानों को खेतों में सिंचाई के लिए अधिक धन व साधन लगाने पड़ रहे है। निशान सिंह ने बताया कि जेजेपी ने ज्ञापन पत्र के माध्यम से सरकार से मांग की है कि दादूपुर-नलवी नहर को बंद करने की बजाय जल्द इसमें पानी छोड़ा जाए ताकि किसानों की सिंचाई की समस्या हल हो सके।

हिसार में प्रधान महासचिव डॉ. केसी बांगड़ के नेतृत्व में भारी संख्या में सड़कों पर उतरे जजपा कार्यकर्ता

हिसार में जेजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पार्टी के प्रधान महासचिव डा. केसी बांगड़ ने कहा कि मनोहर लाल खट्टर सरकार प्रदेश के लोगों की आधारभूत समस्याओं को लेकर आंखें मूंदे हुए है। पिछले पौने पांच वर्षों में भाजपा सरकार किसानों के उत्थान करने, महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने, दुकानदारों व मजदूर वर्ग की तरक्की और युवाओं को रोजगार उपलब्ध करवाने जैसे ज्वलंत मुद्दों से ध्यान भटकाने में लगी रही।

मनोहर लाल खट्टर सरकार प्रदेश में कानून व्यवस्था को लेकर बिल्कुल कैजुअल रही है और अपराधियों के हौंसले आसमान पर पहुंच गए। प्रदेश में कानून व्यवस्था के हालात इस कदर बिगड़ गए कि आम लोगों का अपने घरों से निकलना मुश्किल हो गया है और अपराधियों को फिरौति देकर लोग अपनी जान बचा रहे हैं। प्रधान महासचिव ने आरोप लगाया कि सरकार स्वयं अपराधियों को संरक्षण प्रदान करके लोगों की जिंदगी के साथ खिलवाड़ करने में लगी हुई है।

वहीं इस दौरान कर्मचारी प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष संजीव मंदौला ने कहा कि सरकार कर्मचारियों की मांगों को लेकर अनदेखा कर रही है। उन्होंने सरकार से मांग की कि कर्मचारियों की पुरानी पेंशन स्कीम बहाल करे, संशोधित मकान भत्ता दे और कच्चे कर्मचारियों को पक्का करे। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार कर्मचारियों पर जुल्म ढाह रही है और सरकार का कर्मचारियों को परेशान करने वाला रवैया किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

जेजेपी नेताओं द्वारा अतिरिक्त उपायुक्त को सौंपे ज्ञापन में कहा गया है कि सरकार और प्रशासन के ढीले रवैये और काम नहीं करने की नीयत के कारण प्रदेश का आम जन मुलभूत सुविधाओं के लिए तरस रहा है। प्रदेश में बेरोजगारी की समस्या बहुत गंभीर है। आज लाखों पढ़े-लिखे युवा हाथों में डिग्रियां लेकर बेरोजगार घूम रहे है। अपनी विभिन्न मांगों को लेकर अलग-अलग विभाग के कर्मचारी रोजाना धरना-प्रदर्शन करके अपना हक सरकार से मांगते है लेकिन उसके बावजूद सरकार उन पर कोई ध्यान नहीं दे रही है।

प्रदेश में कर्मचारी एचआरए के लिए पिछले दो सालों से संघर्षरत हैं, शिक्षा विभाग सहित विभिन्न विभागों में कर्मचारियों को पदोन्नति का इंतजार है, एनएचएम आंगनवाड़ी, आशा वर्कर व अन्य कच्चे कर्मचारियों अपनी विभन्न मांगों को लेकर लगातार संघर्षरत हैं और रोडवेज विभाग के कर्मचारी भी रोजाना सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों से परेशान होकर हड़ताल कर रहे है। इनके अलावा भाजपा सराकर ने प्रदेश के कर्मचारियों को पंजाब के समान वेतनमान देने का वायदा अपने घोषणा पत्र में किया था परन्तु सरकार ने अब तक इस वायदे को नहीं निभाया जो कि सरासर कर्मचारियों के साथ अन्याय है जिसे पूरा किया जाए।

ज्ञापन में कहा गया है कि प्रदेश में महिलाओं के विरूद्ध अपराध लगातार बढ़ रहे है तथा महिलाएं अपने आपको पूरी तरह से असुरक्षित महसूस कर रही हैं। हर रोज छोटी-छोटी बच्चियों और महिलाओं के साथ अपहरण, बलात्कार और हत्या के मामले अखबारों की सुर्खियां बनते है। वहीं छात्राओं के साथ छेड़छाड़ की घटनाएं बढऩे के कारण उन्हें हर रोज प्रताडऩा सहनी पड़ रही है। इसके अलावा प्रदेश में बिजली व पानी समस्या के कारण त्राहि-त्राहि मची हुई है।

आज स्थानीय लोग बिजली-पानी जैसी मूलभूत सुविधा से वंचित है। हर रोज घंटों तक बिजली का कट लगता है और जनता खरीद कर पानी पीने को मजबूर है। उन्होंने सरकार से मांग की कि सरकार जननायक जनता पार्टी की ‘रोजगार मेरा अधिकार’ मुहिम के तर्ज पर निजी क्षेत्रों में 75 प्रतिशत सिर्फ प्रदेश के युवाओं को आरक्षण देकर हरियाणवी युवाओं के हाथों में नौकरी दें ताकि बेरोजगारी पर लगाम लगाया जा सके।

वहीं कर्मचारियों को पुरानी पेंशन स्कीम और बढ़ा हुआ मकान भत्ता सरकारी कर्मचारियों का अधिकार है और प्रदेश सरकार बिना किसी शर्त व देरी के न केवल सरकारी कर्मचारियों की पुरानी पेंशन स्कीम बहाल करे बल्कि, कर्मचारियों के मकान भत्ते को सातवें वेतन आयोग की लागू होने की तिथि से जारी करे, विभिन्न विभागों में कार्यकरत कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने के साथ-साथ शिक्षा विभाग सहित विभिन्न विभागों में पदोन्नति का इंतजार कर रहे कर्मचारियों को पदोन्नत करे।

वहीं जन समस्याओं के समाधान और दिन प्रतिदिन बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर जननायक जनता पार्टी का भाजपा सरकार के खिलाफ प्रदेशव्यापी रोष प्रदर्शन का सिलसिला आगे भी जारी रहेगा। अब 23 जुलाई को फरीदाबाद जिले में पार्टी प्रदेशाध्यक्ष सरदार निशान सिंह और राष्ट्रीय महासचिव एवं पूर्व मंत्री  चौधरी हर्ष कुमार के नेतृत्व में जिला स्तरीय पदाधिकारी व कार्यकर्ता रोष प्रदर्शन के बाद डीसी को ज्ञापन सौंपेगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *