Home Breaking बारिस के अलर्ट के बाद भी मंडियों में नहीं कोई व्यवस्था, पानी में भीगे गेहूं के बैग

बारिस के अलर्ट के बाद भी मंडियों में नहीं कोई व्यवस्था, पानी में भीगे गेहूं के बैग

0
0Shares

Ajay Mehta, Yuva Haryana

Fatehabad

फतेहाबाद की अनाजमंडी में एक बार फिर बड़ी प्रशासनिक लापरवाही सामने आई है। किसानों की कड़ी मेहनत से उगाई गेहूं के हजारों बैग बरसात में भीग गए। लापरवाही उजागर होने के बाद अब मार्केट कमेटी प्रशासन व्यापारियों और खरीद एजेंसियों के विरूद्ध कार्रवाई की बात कर रहे हैं। लापरवाही का अंदाज ऐसे भी लगाया जा सकता है कि मौसम विभाग द्वारा तीन दिन पहले मौसम के बदलने और आंधी तूफान आने के अलर्ट घोषित करने के बाद भी न तो खरीद एजेंसियों ने अनाजमंडी में पड़े गेहूं के लादान करने में कोई रूचि दिखाई और न ही व्यापारियों ने गेहूं के बैग को ढकने की जहमत उठाई।

हालांकि नियमों के मुताबिक व्यापारी और खरीद एजेंसियों की यह जिम्मेवारी तय होती है कि किसी भी फसल को मौसम की मार से बचाने के लिए समुचित प्रबंध किए जाएं, मगर यहां न तो व्यापारी ने कोई प्रबंध किया और न ही खरीद एजेंसी ने। अब जब कल आई भारी बरसात के बाद बड़ी संख्या में गेहूं से भरे बैग बरसात की भेंट चढ़ गए तो मार्केट कमेटी प्रशासन लापरवाही की बात को स्वीकारते हुए कार्रवाई की बात कर रहा है।

बतां दे कि इस वक्त फतेहाबाद की दोनों नई और पुरानी अनाजमंडी में में लाखों की संख्या में गेहूं के बैग पड़े हुए हैं और अभी गेहूं की आवक जारी है। ऐसे में अब अगर दोबारा मौसम बदलता है तो निश्चित तौर पर एक बार फिर से किसानों की कड़ी मेहनत पानी में बह सकती है।

Read This Story

क्या इंटरनेट, स्मार्टफोन और TV में दिखाए गए दृश्य बढ़ा रहे हैं यौन अपराध ? – हाईकोर्ट

 

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में नर्स से छेड़छाड़, नर्सों ने मिलकर की आरोपी डॉक्टर की धुनाई

Yuva Haryana News, Umang Sheoran, Panchkula, 14.07.2020 पंचकू…