हरियाणा में बिजली उपभोक्ताओं को मिल सकती है राहत, रेट ना बढ़ने के आसार, लाइन लॉस भी हुआ कम

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana, Chandigarh

हरियाणा इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी कमीशन (एचईआरसी) में सोमवार को स्टेट एडवाइजरी कमेटी की मीटिंग हुई। मीटिंग की अध्यक्षता एचईआरसी के चेयरमैन दीपेंद्र सिंह ढेसी ने की। मीटिंग में आयोग के सदस्य प्राविंद्रा सिंह चौहान,  सदस्य नरेश सरदाना, डिस्कॉम के सीएमडी शत्रुजीत कपूर, एचवीपीएन और एचपीजीसीएल के एमडी मोहम्मद शाइन, हरेडा के डीजी हनीफ कुरैशी, एचईआरसी के पूर्व चेयरमैन ले. कर्नल (सेवानिवृत)रघबीर सिंह छिल्लर, एचईआरसी के पूर्व चेयरमैन आर.एन. परासर, एचएयू के कुलपति डा. के.पी. सिंह, एचईआरसी के सचिव अनिल दून, डायरेक्टर टैरिफ संजय वर्मा, डायरेक्टर (टेक्रिकल) वीरेंद्र सिंह और स्टेट एडवाइजरी कमेटी के अन्य सदस्यों ने भाग लिया।

उल्लेखनीय है कि सेंट्रल इलेक्ट्रिसिटी एक्ट 2003 के सेक्शन 87 और 88 में स्टेट एडवाइजरी कमेटी का उल्लेख है, साथ ही पावर यूटिलिटी की वार्षिक राजस्व जरूरत (एआरआर) की याचिकाओं की पब्लिक हियरिंग के बाद और एआरआर के आर्डर से पहले स्टेट एडवाइजरी कमेटी की मीटिंग अनिवार्य होती है, ताकि एडवाइजरी कमेटी के सदस्यों की बात को भी सुना जा सके। मीटिंग में एचईआरसी के चेयरमैन दीपेंद्र सिंह ढेसी ने सबसे पहले केंद्रीय बजट के उस हिस्से को पढक़र सुनाया जिसमें कहा हुआ है कि अगले तीन साल में देश में सभी पुराने मीटरों की जगह स्मार्ट मीटर लगा दिए जाएंगे। इस पर चेयरमैन ढेसी ने हरियाणा की बिजली वितरण कपंनियों की प्रगति के बारे में जानकारी मांगी।

इस मीटिंग की खास बात यह रही कि चेयरमैन ढेसी ने एडवाइजरी कमेटी के सदस्यों जिनमें मुख्यतौर पर पूर्व चेयरमैन छिल्लर, पूर्व चेयरमैन आर.एन.परासर, एचएयू के वीसी डा. केपी सिंह, किसान अरविंद कुमार, पानीपत इंडस्ट्री एसोसिएशन के अध्यक्ष विनोद खंडेलवाल और दूसरे सदस्यों को कहा कि आप अपने प्रश्र और सुझाव दें तथा फिर डिस्कॉम के सीएमडी शत्रुजीत कपूर इनके एक साथ ही जवाब दे देंगे।

मीटिंग में जहां रघबीर सिंह छिल्लर ने फीडरों के लाइन लॉस, परासर ने एचपीजीसीएल के प्लांटों, अरविंद कुमार ने एग्रो इंडस्ट्री के लिए अलग से टेरिफ बारे, पानीपत इंडस्ट्री एसोसिएशन के खंडेलवाल ने उद्योगों के लिए और ज्यादा सहुलियत देने पर बात की। इस पर चेयरमैन ढेसी ने कहा कि हर श्रेणी के बारे में बोला गया, लेकिन घरेलू उपभोक्ताओं के बारे में किसी ने कोई प्रश्र नहीं किया। इस पर एचईआरसी के पूर्व चेयरमैन परासर ने कहा कि स्मार्ट मीटर लगने से बहुत सारी समस्याएं खत्म हो जाएंगी।

डिस्कॉम के सीएमडी शत्रुजीत कपूर ने कहा कि फीडरों पर लाइन लॉस गणना का जो फार्मूला पहले था, वही अब है।  हरियाणा में पहली बार डिस्कॉम के लाइन लॉस कम हुए हैं। बिजली वितरण कंपनियों के बेहतरीन प्रदर्शन को देखते हुए भारत सरकार में हरियाणा को प्रस्तुति देने के लिए आमंत्रित किया था, जिस पर गत दिनों एक प्रस्तुति दी है। प्रदेश में 10 लाख स्मार्ट मीटर लगाए जा रहे हैं, इसके अलावा और 20 लाख स्मार्ट मीटर और लगाए जाएंगे, उसके लिए प्रयास जारी हैं। शत्रुजीत कपूर ने कहा कि एग्रो इंडस्ट्री के लिए रियायत दी जाए, इसके लिए डिस्कॉम भी सैद्धांतिक तौर पर सहमत है।

उन्होंने कहा कि यह बहुत महत्वपूर्ण बात है कि गत चार वर्षों में बिजली के दाम नहीं बढ़े। एचपीजीसीएल के एमडी मोहम्मद शाइन ने कहा कि पराली का थर्मल प्लांटों में  इस्तेमाल हो इसके लिए काम किया जा रहा है। वहीं, सीएमडी शत्रुजीत कपूर ने किसानों के विषय पर कहा कि उनको किसानों की तरफ से 33 मेगावाट के सौलर प्रोजेक्ट के लिए आवेदन आए हैं। डिस्कॉम में कर्मचारियों की कमी के विषय पर शत्रुजीत कपूर ने कहा कि अभी हाल ही में उनको कुछ जेई मिले हैं, तथा जल्द ग्रुप सी के कर्मचारी भी मिलने वाले हैं।

शत्रुजीत कपूर ने कहा कि बिजली चोरी के मामले में अपील की सुनवाई एचवीपीएन के अधिकारी करते हैं, इतना ही नहीं यह प्रावधान किया जा रहा है कि जुर्माना राशि का 20 प्रतिशत जमा करके अपील में आ सकता है, जबकि पहले जुर्माने की राशि 50 प्रतिशत जमा करनी अनिवार्य होती थी। मीटिंग के अंत में चेयरमैन ढेसी ने कहा कि मार्च माह में एआरआर का आर्डर जारी कर देंगे, सभी श्रेणी के बिजली उपभोक्ताओं का हित ध्यान में रखकर ही निर्णय होगा।

वहीं, एक प्रश्र के जवाब में शत्रुजीत कपूर ने कहा कि गांवों में शहरी तर्ज पर बिजली दी जा रही है, 9 जिले तो ऐसे हैं जहां 24 पर घंटे बिजली मिल रही है, करनाल जल्द 10 वां ऐसा जिला बनने जा रहा है जहां पर 24 घंटे बिजली मिलेगी। शत्रुजीत कपूर ने कहा कि इस समय 4500 गांवों में 24 घंटे बिजली मिल रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *