33 C
Haryana
Sunday, September 20, 2020

अब FIR में नहीं होगा जाति-धर्म का कॉलम

Must read

खाप पंचायत का सरकार को एक हफ्ते का अल्टिमेटम, जानिये पूरा मामला-

Yuva Haryana News Jhajjar, 20 September, 2020 झज्जर के डीघल गांव में आज अनेक खाप पंचायतों के प्रतिनिधियों और सरपंचों की महापंचायत हुई। इस महापंचायत में...

कल से दौड़ेंगी 40 और स्पेशल ट्रेंने, जानिये Haryana से कितनी चलेंगी ट्रेन

Yuva Haryana News Chandigarh, 20 September, 2020 देश में जबसे लॉकडाउन हुआ, तभी से रोजवेज, रेलवे और हवाई उड़ानों पर ब्रेक लगा दिया गया। इससे लोगों...

किसानों को भड़का कर गुमराह कर रहे कुछ नेता, कांग्रेस लगाना चाहती है आग- Anil Vij

Yuva Haryana News Ambala, 20 Deptember, 2020 किसानों द्वारा अध्यादेश के खिलाफ हरियाणा में सड़क जाम के एलान के बाद अंबाला में हरियाणा के गृह मंत्री...

राज्यसभा में कृषि बिलों के पास होने पर Haryana के कृषि मंत्री ने किया स्वागत

Yuva Haryana News Chandigarh, 20 September, 2020 हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जे.पी. दलाल ने आज राज्यसभा में पारित कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य...

हरियाणा व पंजाब सरकारों ने अपने राज्यों में दर्ज होने वाली FIR (प्रथम सूचना रिपोर्ट) में अभियुक्त की जाति व धर्म के कालम को हटा दिया है। कुछ मामलों में केंद्रीय कानून की वजह से इस नीति को पूरी तरह लागू करने में दोनों राज्य अभी सक्षम नहीं हैं। पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट ने इस मामले में केंद्र को प्रतिवादी बनाते हुए नोटिस जारी कर जवाब मांग लिया है।

शुक्रवार को सुनवाई के दौरान कोर्ट के ध्यान में लाया गया कि नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्यूरो सभी राज्यों से FIR में जाति व धर्म की जानकारी मांगता है। पंजाब की ओर से बताया गया कि राज्य सरकार पंजाब पुलिस नियम 1934 में संशोधन कर रही है। अतीत में एफआइआर में जाति व धर्म को लिखना ठीक था, लेकिन मौजूदा समय में यह ठीक नहीं है।

तो वहीं हरियाणा सरकार अदालत में स्पष्ट कर चुकी कि वह पुलिस नियमों में आवश्यक संशोधन करने जा रही है। हरियाणा की ओर से स्पष्ट किया गया कि ST/ST से संबंधित केसों में जाति व धर्म का लिखा जाना जरूरी होगा।
चंडीगढ़ प्रशासन भी जाति व धर्म का कालम हटाने के पक्ष में है। याचिका दाखिल करने वाले वकील एचसी अरोड़ा के अनुसार पंजाब पुलिस नियम 1934 में FIR में अभियुक्त और पीडि़त की जाति लिखे जाने का प्रावधान है, जो कि गलत है। अपराधी का कोई धर्म नहीं होता और न ही उसकी कोई जाति होती है।

More articles

Latest article

खाप पंचायत का सरकार को एक हफ्ते का अल्टिमेटम, जानिये पूरा मामला-

Yuva Haryana News Jhajjar, 20 September, 2020 झज्जर के डीघल गांव में आज अनेक खाप पंचायतों के प्रतिनिधियों और सरपंचों की महापंचायत हुई। इस महापंचायत में...

कल से दौड़ेंगी 40 और स्पेशल ट्रेंने, जानिये Haryana से कितनी चलेंगी ट्रेन

Yuva Haryana News Chandigarh, 20 September, 2020 देश में जबसे लॉकडाउन हुआ, तभी से रोजवेज, रेलवे और हवाई उड़ानों पर ब्रेक लगा दिया गया। इससे लोगों...

किसानों को भड़का कर गुमराह कर रहे कुछ नेता, कांग्रेस लगाना चाहती है आग- Anil Vij

Yuva Haryana News Ambala, 20 Deptember, 2020 किसानों द्वारा अध्यादेश के खिलाफ हरियाणा में सड़क जाम के एलान के बाद अंबाला में हरियाणा के गृह मंत्री...

राज्यसभा में कृषि बिलों के पास होने पर Haryana के कृषि मंत्री ने किया स्वागत

Yuva Haryana News Chandigarh, 20 September, 2020 हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जे.पी. दलाल ने आज राज्यसभा में पारित कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य...

बरकरार रहेगा किसानों का MSP का अधिकार, कोई आंच आई तो छोड़ दूंगा पद – Dushyant Chautala

Yuva Haryana News Chandigarh, 20 September, 2020 उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि केंद्र सरकार के कृषि संबंधित नए अध्यादेशों में कहीं भी फसलों के...