नामांकन के आखिरी दिन दिखाई ताकत, उपचुनाव में कांटे की होगी टक्कर

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 10 Jan, 2019

जींद में 28 जनवरी को होने वाले उपचुनाव को लेकर आज नामांकन के आखिरी दिन काफी गहमागहमी देखने को मिली। आज पूरे दिन जींद में राजनीतिक माहौल गर्माया हुआ रहा। आज सभी पार्टियों के प्रत्याशियों ने अपने नामांकन की प्रक्रिया को पूरा किया।

जींद उपचुनाव को लेकर आज भाजपा के प्रत्याशी कृष्ण मिड्ढा ने अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। उनके साथ भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला, शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा, परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार समेत कई दिग्गज नेता पहुंचे हुए थे। इस दौरान भारी संख्या में जनता भी कृष्ण मिड्ढा के नामांकन के दौरान एकत्रित हुई थी।

आज कांग्रेस प्रत्याशी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी अपना नामांकन पत्र दाखिल कर दिया। इस दौरान कांग्रेस के सभी दिग्गज नेता एकजुट नजर आए और सभी एक ही मंच पर एक साथ दिखाई दिए। रणदीप सुरजेवाला के नामांकन के लिए पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा, कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर, कुलदीप बिश्नोई, कुमारी शैलजा, कैप्टन अजय यादव समेत कई दिग्गज नेता पहुंचे थे।

इधर जननायक जनता पार्टी के उम्मीद्वार दिग्विजय चौटाला ने भी आज अपना नामांकन दाखिल कर दिया। इस दौरान उनके साथ सांसद दुष्यंत चौटाला, जेजेपी प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह समेत कई दिग्गज नेता भी मौजूद रहे। इससे पहले दिग्विजय चौटाला के नाम का ऐलान आज सुबह ही किया गया था जिसके बाद काफी संख्या में भीड़ के साथ दिग्विजय चौटाला नामांकन के लिए पहुंचे थे।

इनेलो-बसपा के संयुक्त प्रत्याशी उमेद रेढू ने आज दोबारा पार्टी की तरफ से नामांकन दाखिल किया। इससे पहले उन्होने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर नामांकन दाखिल किया हुआ था लेकिन आज पार्टी की तरफ से घोषणा होने के बाद उन्होने नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला के साथ जाकर दोबारा से नामांकन दाखिल किया। इस दौरान जुलाना से विधायक परविंद्र ढुल समेत कई दिग्गज नेता मौजूद रहे।

वहीं राजकुमार सैनी की लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी के प्रत्याशी विनोद आशरी ने आठ जनवरी को ही अपना नामांकन दाखिल कर दिया था। राजकुमार सैनी ने सबसे पहले अपने प्रत्याशी के नाम का ऐलान किया था वहीं उन्होने चुनाव प्रचार भी तेज कर दिया है। खास बात यह रही है कि विनोद आशरी को चुनाव चिन्ह ऑटो रिक्शा मिला है जिसके चलते नामांकन के दिन वो ऑटो की छत्त पर सवार होकर आए थे और पार्टी के मुखिया राजकुमार सैनी उस ऑटो को चला रहे थे।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *