UGC के पोर्टल एनएडी पर उपलब्ध होंगी अब डिजिटल डिग्रियां, आधार नंबर से निकाल सकेंगे डुप्लीकेट कॉपी

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana 
2 Dec, 2019

देशभर के शिक्षण संस्थानों से शिक्षा प्राप्त कर चुके विद्यार्थियों के लिए अच्छी खबर है। कि अब यूजीसी के द्वारा एक डिजिटल स्टोर तैयार किया जा रहा है। जिसमें सभी विवि के विद्यार्थियों की डिग्रियां और अवॉर्ड को रखा जाएंगा। बता दें कि विद्यार्थियों को नई नौकरी जॉइन करते समय अपने डॉक्यूमेंटस को वेरिफाई करावाना पड़ता है। कभी- कभी डिग्री गुम होने, नष्ट होने पर भी समस्या का सामना करना पड़ता। लेकिन यूजीसी ने इसका समाधान कर दिया है। अब एक पोर्टल पर सभी विद्यार्थियों की डिग्रियां, डीएमसी और अवॉर्ड का डाटा डिजिटल रूप में रखा जाएंगा। जिसके चलते विद्यार्थी अपनी डिग्रियों को ऑनलाइन देख सकेंगे। साथ ही उनको डाउनलोड भी किया जा सकेंगा। साथ ही अब डुप्लीकेट डॉक्यूमेंट्स निकलवाने के लिए विद्यार्थियों को  शिक्षण संस्थानों के चक्कर काटने की जरूरत नहीं। यूजीसी पोर्टल से कभी भी, कहीं से भी प्रिंट निकाला सकेंगे। इसमें केवल आधार नंबर से ही यह प्रकिया शुरू हो जाएंगी। बता दें कि यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन (यूजीसी) ने एमएचआरडी के निर्देश पर यह योजना बनाई है। यूजीसी ने नेशनल एकेडमिक डिपोजिटरी (एनएडी) नाम से पोर्टल तैयार किया है, जिस पर यह सुविधा मिलेगी।

यूजीसी के सचिव रजनीश जैन ने देशभर के सभी विवि के वाइस चांसलर और शिक्षण संस्थानों के डायरेक्टर को पत्र भेजकर 31 दिसंबर से पहले पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवाकर पुराना और फ्रेश डाटा अपलोड करने को कहा है। इस पोर्टल पर अब तक देश भर से 1172 शिक्षण संस्थान रजिस्ट्रेशन करवा चुके हैं। इन शिक्षण संस्थानों के 18 लाख, 32 हजार, 575 विद्यार्थियों का डाटा अपलोड किया जा चुका है। अब तक 5 करोड़, 77 लाख, 86 हजार 218 डिग्रियां, मार्कशीट, अवार्ड, सर्टिफिकेट अपलोड हो चुके हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *