हरियाणा में नई सरकार के गठन के बाद अब अफसरशाही में हो सकते हैं बड़े बदलाव, देखिए

चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

30 oct, 2019

हरियाणा में नई सरकार के गठन के बाद अब अफसरशाही में बड़े बदलाव की सुगबुगाहट शुरू हो गई है। मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) के अफसरों समेत सीनियर आइएएस और आइपीएस अधिकारियों को नए सिरे से जिम्मेदारियां सौंपी जाएंगी। सीएमओ में मुख्यमंत्री मनोहर लाल के पसंदीदा अफसरों के साथ ही उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला की पसंद के भी अफसरों का दखल रहेगा। कई जिलों में दुष्यंत की पसंद के आइएएस और आइपीएस की पोस्टिंग तय है।

विधानसभा चुनाव से पहले एक ही स्थान पर तीन साल से अधिक समय से जमे या फिर अपने गृह जिलों में तैनात अफसरों को चुनाव आयोग के निर्देश पर दूसरे जिलों में भेजा गया था। इसके अलावा हरियाणा सचिवालय में तैनात वरिष्ठ स्तर के अधिकारियों में भी बड़े स्तर पर फेरबदल हुआ। अब यह अधिकारी फिर से पुराने पदों पर लौटने की जुगत में हैं। सबसे बड़ा बदलाव सीएमओ में होना है। मुख्यमंत्री के राजनीतिक सचिव दीपक मंगला अब विधायक बन चुके। ऐसे में उनकी जगह किसी नए व्यक्ति को यह जिम्मेदारी दी जाएगी। अमूमन नई सरकार में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव भी नए ही होते हैं, लेकिन मौजूदा प्रधान सचिव राजेश खुल्लर के सरकार से बेहतरीन सामंजस्य और मुश्किलों का तोड़ निकालने का कारगर कौशल उनके लिए ढाल बनेगा।

मुख्यमंत्री की पहली पारी में कर्मचारी आंदोलनों सहित कई मौके आए जब संकट में पड़ी सरकार को खुल्लर ने बड़ी होशियारी से मुसीबत से बाहर निकाला। ऐसे में वह इस पद पर बरकरार रहेंगे, यह लगभग तय है। एक और सुधार कार्यक्रम के प्रोजेक्ट डायरेक्टर राकेश गुप्ता, मुख्यमंत्री के प्रिंसिपल ओएसडी नीरज दफ्तौर, ओएसडी अमरेंद्र सिंह को भी मुख्यमंत्री से नजदीकियों का फायदा मिलेगा।

सीएमओ और सचिवालय में तैनात कई अफसरों का तबादला तय, डीसी और एसपी भी बदलेंगे

चौटाला परिवार से जुड़े अफसरों को मिलेंगे अहम पद

प्रशासनिक और पुलिस अफसरों में बड़ा तबका ऐसा है जो चौटाला परिवार के 15 साल के राजनीतिक वनवास के बावजूद अंदरखाते उनसे जुड़ा रहा। अभय चौटाला और दुष्यंत चौटाला को यह अफसर सरकार से जुड़ी सूचनाएं लीक करते रहे हैं जिसका फायदा उठाकर विपक्ष में रहते चाचा-भतीजे ने सरकार को घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ी। विभिन्न सरकारों में हाशिये पर रहे यह अफसर अब महत्वपूर्ण पदों पर आसीन होंगे। कई जिलों में डीसी-एसपी दुष्यंत चौटाला की पसंद के होंगे तो चंडीगढ़ में भी अहम पदों पर उनके नजदीकी अफसर तैनात किए जाएंगे।

अगले महीने मिलेंगे नए गृह सचिव और वित्तायुक्त

सरकार में सबसे अहम माने जाने वाले गृह सचिव और वित्तायुक्त के पदों पर नई नियुक्तियां होनी हैं। मौजूदा गृह सचिव और वित्तायुक्त नवराज संधू 30 नवंबर को रिटायर हो जाएंगी। 1984 बैच की आइएएस ने पहली अगस्त को ही गृह सचिव का पद संभाला था। उनकी रिटायरमेंट के बाद दोनों पदों पर अलग-अलग आइएएस अफसर लगाए जाएंगे। इसी तरह तीन महीने के सेवा विस्तार पर चल रहे सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के महानिदेशक समीर पाल सरो भी 31 नवंबर को सेवानिवृत्त होने हैं। हालांकि उनके बेहतरीन कार्यप्रणाली के चलते उन्हें एक बार फिर एक्सटेंशन मिल सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *