पुरानी पेंशन स्कीम को लेकर भूपेंद्र हुड्डा से मिला प्रतिनिधिमंडल, हुड्डा ने दिया आश्वासन

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana
कर्मचारियों के सबसे बड़े मुद्दे पुरानी पेंशन स्कीम को लागू करवाने की मांग को लेकर कांग्रेस ने समर्थन किया । पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कर्मचारियों की इस मांग को सदन में उठाने का ऐलान किया है। भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कर्मचारियों के प्रति अपने समर्थन का ऐलान करते हैं।

पेंशन बहाली संघर्ष समिति के एक प्रतिनिधि मंडल से मुलाकात के बाद भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने अपनी तरफ से उनके समर्थन का ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस कर्मचारियों की इस मांग को विधानसभा में उठाएगी ।

दरअसल, पेंशन बहाली संघर्ष समीति लगातार बाजार आधारित नेशनल पेंशन सिस्टम को बंद करने के लिए आंदोलन कर रही है। पूर्व सांसद दीपेंद्र हुड्डा भी कई बार कर्मचारियों की इस मांग को उठा चुके हैं। दीपेंद्र हुड्डा कर्मचारियों के साथ सड़क पर और भूपेंद्र सिंह हुड्डा पार्टी विधायकों के साथ सदन में इस मुद्दे पर सरकार को घेरने की रणनीति बना रहे हैं।

भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने जोर देकर कहा है कि बीजेपी-जजपा गठबंधन सरकार को बताना चाहिए पुरानी पेंशन स्कीम पर उसका क्या स्टैंड है। क्या इसे कॉमन मिनिमम प्रोग्राम में जगह दी जाएगी? क्या जेजेपी 5100 रुपये बुढ़ापा पेंशन को इसमें शामिल करेगी? या कर्मचारियों की तरह बुजुर्गों से भी धोखा किया जाएगा? आख़िर गठबंधन ने अबतक अपना कॉमन मिनिमम प्रोग्राम क्यों नहीं जारी किया? सरकार इसपर क्यों टालमटोल कर रही है?

हुड्डा ने कहा कि महाराष्ट्र में कांग्रेस ने भी गठबंधन की सरकार बनाई है लेकिन सरकार बनने के साथ ही पार्टी ने अपना कॉमन मिनिमम प्रोग्राम जारी कर दिया था। इससे सरकार के काम में स्पष्टता आती है। लेकिन लगता है कि बीजेपी-जेजेपी सरकार अपने गठबंधन और मंत्रियों की अंतर-कलहों में घिरी हुई है। सरकार के भीतर ही किसी तरह का सामंजस्य नजर नहीं आता। ये दो पहियों की ऐसी गाड़ी है जिसके दोनों पहिए अलग-अलग दिशा में दौड़ रहे हैं। इसीलिए आमजन में चर्चा जोरों पर है कि ये गाड़ी दूर तक नहीं चलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *