एक उम्मीदवार केवल एक सीट से ही लड़े चुनाव: चुनाव आयोग

Breaking देश बड़ी ख़बरें राजनीति

Yuva Haryana

Delhi (5 April 2018)

चुनाव आयोग ने एक उम्मीदवार के दो सीटों से चुनाव लड़ने के प्रावधान को चुनौती देने वाली याचिका का सुप्रीम कोर्ट में समर्थन किया है। अपने हलफनामे में चुनाव आयोग ने साफ कहा है कि एक उम्मीदवार को दो सीटों से चुनाव नहीं लड़ना चाहिए। इससे दोबारा चुनाव कराने के साथ धन की भी बचत की जा सकती है।

चुनाव आयोग के इस रुख के बाद चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस ए एम खानविलकर और जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ की बैंच ने अब इस मामले में केंद्र सरकार के एटर्नी जनरल से अपनी राय देने का निर्देश दिया है।

बता दें कि भाजपा नेता अश्विनी उपाध्याय की याचिका पर सुनवाई करते के खंडपीठ ने कहा कि हमने एटर्नी जनरल केके वेणुगोपाल से इस मामले में सहयोग मांगा है और उन्होंने सहयोग के लिए रजामंदी भी दी है। लेकिन याचिका के जवाब के लिए कुछ वक्त मांगा है।’

चीफ जस्टिस मिश्रा ने वेणुगोपाल की गुजारिश स्वीकार करते हुए कहा, समय दिया जाता है। मामले को अब अगली सुनवाई जुलाई के पहले हफ्ते में की जाएगी

इस बीच, चुनाव आयोग ने हलफनामा दायर कर याचिकाकर्ता की उस दलील का समर्थन किया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि एक उम्मीदवार के एक से ज्याद सीटों पर चुनाव लड़ने संबंधी जनप्रतिनिधित्व अधिनियम के प्रावधान को खत्म किया जाना चाहिए।

आयोग ने हलफनामे में कहा है कि उम्मीदवारों को एक से ज्यादा सीटों से चुनाव लड़ने से रोका जाना चाहिए, क्योंकि इससे सरकारी राजस्व पर गैरजरुरी भार पड़ता है। साथ ही आयोग ने कहा है कि अगर कोई उम्मीदवार दोनों सीट जीतने के बाद एक सीट खाली करे, तो उससे दूसरे सीट के उपचुनाव पर होने वाला खर्च वसूला जाए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *