महिला डॉक्टर का हैवानों वाला चेहरा उजागर, घर पर ही अबॉर्शन के लिए कर रखा था पूरा इंतजाम, देखिए

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Umang Sheoran, Yuva Haryana, Panchkula 

पंचकूला नागरिक अस्पताल सेक्टर 6 की डॉक्टर द्वारा गर्भपात की ऐवज में पैसे लेने का मामला में गायनी डॉ पूनम भार्गव का एक ओर वीडियो सामने आया। आपको बता दें कि डा. पूनम भार्गव ने गर्भपात करने के लिये अपने घर पर ही सर्जरी का पूरा इंतजाम कर रखा था। शिकायतकर्ता अमन राजपूत और विनय अरोड़ा को पहले से ही डा. पूनम भार्गव के कारनामों के बारे में जानकारी दी थी, इसलिये वह ट्रैप लगवाना चाहते थे। लेकिन पुलिस की ओर से सहयोग ना मिलने के चलते डा. पूनम भार्गव रंगे हाथों पकड़े जाने से बच गई। अमन राजपूत अपने साथ जिस महिला को गर्भपात के लिये पूनम भार्गव के घर लेकर गये थे, उसके गर्भ में बच्चे को मारने के लिये पहले तो महिला को गोली खिला दी और उसके बाद अमन से पैसे देने के लिये कहा। अमन ने जब कहा कि उसके पास अभी तीन हजार रुपये ही है, तो वह भडक़ गई थी और महिला को घर पर ही बिठा लिया था। इसके बाद अमन ने पांच हजार रुपये ओर लेकर आये थे।

इस मामले में सोमवार को मामले की जांच कर रही कमेटी के समक्ष डा. पूमन भार्गव दो वकील लेकर पहुंची। लेकिन शिकायतकर्ता अमन और विनय ने ऐतराज जताया, तो वकीलों को बाहर भेज दिया गया। इसके बाद पूनम भार्गव की वीडियो शिकायतकर्ताओं ने दिखाई कि किस तरह से डिलिंग हुई थी। डिलिंग में किस तरह पैसे लिये। डील चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी अस्सिटेंट बलजिंदर कौर के जरिये शुरु हुई थी। जिसमें बलजिंद्र ने अमन को बताया था कि डा. पूनम गर्भपात कर देंगी, लेकिन पैसे देने पड़ेंगे। उसके बाद बलजिंद्र के जरिये पूनम भार्गव से बातचीत शुरु हुई।

कमेटी के समक्ष जमा करवा दिये 8 हजार रुपये…………………

डा. पूनम भार्गव ने कमेटी के समक्ष यह कबूल कर लिया है कि उसने गर्भपात करने के लिये अमन राजपूत से 8 हजार रुपये नगद लिये थे। पूनम ने यह आठ हजार रुपये कमेटी के पास जमा भी करवा दिये हैं, लेकिन जो नोट डा. पूनम ने कमेटी के पास जमा करवाये, वह नोट दूसरे हैं, जबकि अमन ने जो 500-500 रुपये के नोट दिये थे, वह दूसरे थे। उसके नंबर भी नोट कर रखे हैं।

गर्भपात करने के लिये डा. पूनम भार्गव ने पूरा इंतजाम कर रखा था। एक कैमिस्ट के कर्मचारी से वह गर्भपात के लिये प्रयोग होने वाली दवाइयां एवं अन्य सामान मंगवाती थी। मरीज के परिजनों को ही दवाइयां लेने के लिये भेजती थी। पूनम घर की वीडियो में स्पष्ट दिख रहा है कि वह घर पर ही गर्भपात करतीथी।

डाक्टरों की टीम ने सोमवार को पूनम भार्गव के घर पर भी छापा मारा। वहां रखे गये सामान की जांच की। घर में पूनम भार्गव एवं उनके पति के अलग-अलग कमरे है। टीम के सदस्य इस बात से सहमत दिखे कि पूनम भार्गव संदिग्ध गतिविधियों में शामिल थीं और उनसे सच उगलवाने के लिये पुलिस की कार्रवाई जरुरी है। इसलिये जल्द ही पुलिस को मामला सौंपा जाना चाहिए।

इस मामले में एक बात सामने आई है कि पूनम भार्गव ने शिकायतकर्ताओं से कहा है कि मेरे घर के पास गटर है, उसमें काले लिफाफे में भ्रूण को गिरा देना। ऐसे में इस बात की जांच होना बहुत जरुरी है कि इससे पहले तो वहां कोई भ्रूण नहीं गिराया गया। अस्पताल सेक्टर 6 में तीन या चार भ्रूण शौचालयों मेें मिल चुके हैं, उनके केस भी दोबारा ओपन करके जांच होनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *