साजिश और षड़यंत्र पार्टी को कर रहे कमजोर, छोटे-मोटे मतभेद हो जाएंगे खत्म- ओपी चौटाला

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana
Gurugram, 18 Oct, 2018

इनेलो प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में आज इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला ने आज एक बार फिर सभी वर्करों और पदाधिकारियों को एकजुट होने की अपील की। उन्होने कहा कि पार्टी में आपसी छोटे-मोटे मतभेद समाप्त हो जाते हैं। लेकिन साजिशें और षड़यंत्र पार्टी को कमजोर करते हैं।

इनेलो सुप्रीमो ने दुष्यंत और दिग्विजय के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही का पूरा जिम्मा अनुशासन कमेटी को सौंप दिया है। इस केस में सात दिन का फिर वक्त दिया गया है, जिसके बाद अनुशासनात्मक कमेटी की रिपोर्ट इनेलो सुप्रीमो ओपी चौटाला को सौंपी जाएगी और उसी के बाद कोई फैसला लिया जाएगा।

इस मौके पर इनेलो सुप्रीमो ओपी चौटाला ने कहा कि परिस्थियां आपके अनुकूल है और छोटे-मोटे जो भी मतभेद हैं वो समाप्त हो जाएंगे। उन्होने कहा कि प्रदेश में आने वाला वक्त इनेलो और बसपा का है। लेकिन मौजूदा ताकतें संगठन को कमजोर कर रही है। यह सब साजिश और षड़यंत्र के तहत हो रहा है।

ओपी चौटाला ने कहा कि पार्टी में अनुशासनहीनता फैलाई जा रही है और हर आदमी इसको लेकर चितिंत है। इनेलो सुप्रीमो ने पार्टी में मतभेद और मनभेद खत्म करने की अपील की । उन्होने बताया कि हमने पार्टी में अच्छे लोगों को लिया है और जो अनुशासनहीनता करते हैं उनके खिलाफ एक्शन भी लिया है।

ओपी चौटाला ने कहा कि मैं अंदर जाने से पहले आपकी राय लेना जरुरी समझता हूं। जो भी लोग संगठन से जुड़ना चाहते हैं उनकी सूची बनाकर पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा को दें और जो लोग अनुशासनहीनता करने वाले बच गए गए हैं उन सूची भी तैयार करके दी जाए।

ओपी चौटाला ने कहा कि मैंने सख्त कदम उठाकर इनसो व युवा लोकदल को समाप्त किया है और नये सिरे से इसका गठन किया जाएगा। चौटाला ने कहा कि मुझे मजबूरन यह कदम उठाना पड़ा है।

उन्होने बताया कि सात तारीख को गोहाना रैली में कुछ लोगों ने हुल्लड़बाजी की कोशिश की, जो कि नाकाबिले बर्दाश्त है अभी तक कोई संतोषजनक जवाब नहीं आया है, आपने मुझे अधिकार दिया है। उनका यह केस अनुशासननात्मक कमेटी को दिया जाए ताकि उनके खिलाफ रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई हो सके।

ओपी चौटाला ने पार्टी की जो भी छवि धूमिल करते हैं या छवि धूमिल करने वाले लोग हैं उनको कभी बर्दाश्त नहीं करेंगे। चौटाला ने सभी पदाधिकारियों से इसको लेकर सहमति के बारे में पूछा तो सभी ने सहमति दी।

चौटाला ने कहा कि गलत कार्य करने वालों पर कार्रवाई आवश्यकहै अधिकार मांगने से नहीं मिलते छीने जाया करते हैं जो लोग पदों से वंचित रह गए हैं उनकी भी लिस्ट दी जाए ताकि उनको भी पद दिए जाए। चुनाव कभी भी हो सकते हैं और आप सभी को मेहनत करने की आवश्यकता है।

चौटाला ने बैठक में कहा कि मेरी हार्दिक इच्छा है कि संगठन के माध्यम से चौधरी देवीलाल का सपना पूरा हो सके। उन्होने कहा कि पार्टी में कोई क्लेश नहीं है कुछ स्वार्थी लोग अपना स्वार्थ पूरा करने के लिए इस प्रकार की कोशिशें करते हैं, हम किसी व्यक्ति विशेष को खुश करने के लिए संगठन को कमजोर नहीं कर सकते ।

ओपी चौटाला ने कहा कि आपको पहले से भी ज्यादा मजबूती व ताकत के साथ काम करना है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *